ऑनलाइन देख सकेंगे मुकदमे की सुनवाई की तारीख

-अधिवक्ता व पक्षकार को बड़ी राहत
-जीसीएमएस सॉफ्टवेयर पर फरवरी माह में एसडीएम व फास्टट्रेक की 161 फाइलों का निस्तारण कर किया गया अपलोड
-अब आरसीएमएस की जगह किया जा रहा है जीसीएमएस पर कार्य
-5 व 10 वर्ष से अधिक समय से पेंडिंग फाइलों पर दिया जा रहा विशेष ध्यान

By: Ashish Joshi

Updated: 03 Mar 2021, 09:48 AM IST

सीकर/नीमकाथाना. रेवन्यू कोर्ट के आरसीएमएस (रेवन्यू कोर्ट मैनेजमेंट सिस्टम) सॉफ्टवेयर में बदलाव के बाद अब काम में लिए जा रहें जीसीएमएस (जनरलाइस्ड कोर्ट मैनेजमेंट सिस्टम) से अब अधिवक्ता व पक्षकार घर बैठे अपने मुकदमे की सुनवाई का नंबर देख सकते है। इसके अलावा प्रकरण में किए गए निस्तारण का फैसला भी ऑनलाइन देख कर नकल भी निकलवा सकते है। फरवरी माह में जीसीएमएस पर नीमकाथाना एसडीएम व फास्टट्रेक की 161 फाइलों का निस्तारण कर अपलोड किया गया। उपखंड अधिकारी बृजेश गुप्ता ने बताया कि एसडीएम कार्ट में राजस्व अभियोग की 131 तथा फास्टट्रेक की 30 फाइलों का निस्तारण कर सॉप्टवेयर पर अपलोड की दी गई। पक्षकार निर्णय की प्रति सॉफ्टवेयर पर आसानी से देख सकते है। उन्होने बताया कि कोई भी व्यक्ति अपने प्रकरण की जानकारी कहीं पर भी सॉफ्टवेयर से प्राप्त कर सकता है कि उसकी फाइल कहां तक पहुंच चुकी है। विलंबित प्रकरणों के निस्तारण के लिए एसडीएम गुप्ता प्रतिदिन कोर्ट लगाकर फाइलों का निस्तारण करने में लगे हुए है। ताकि वर्षों से लोगों की विलंबित पड़ी फाइलों में लोगों को न्याय मिल सके। उन्होने बताया कि राजीनामा के आधार पर पत्रावलियों के निस्तारण के लिए भी लोगों को प्रेरित किया जा रहा है।
---------------------
5 व 10 वर्ष से अधिक समय से पेंडिंग फाइलों पर विशेष ध्यान
एसडीएम कोर्ट में पेंडिंग में चल रही फाइलों में 131 फाइलों का निस्तारण होने के बाद अब अलग-अलग प्रकरणों की 3188 फाइलें पेंडिंग में है। जिनमे 270 फाइलें 10 वर्ष से अधिक, 933 फाइलों 5 वर्ष से अधिक, 688 फाइलें 3 से 5 वर्ष तक, दो से तीन वर्ष तक 328, एक वर्ष से दो वर्ष तक 380 फाइलें शामिल है। इसी प्रकार फास्टट्रेक में फरवरी माह में 30 फाइलों का निस्तारण होने के बाद 914 फाइलें पेंडिंग है। जिनमे 2 से 3 वर्ष तक 501, 1 से 2 वर्ष तक 91, 6 माह से उपर 1 वर्ष तक 78 फाइलें शामिल है। एसडीएम 5 व 10 वर्ष से अधिक समय से पेंडिंग फाइलों पर विशेष ध्यान देकर निस्तारण करने में लगे हुए है।

Ashish Joshi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned