रात को सूना छोड़ा था घर, लौट कर आए तब साफ मिला

रात को सूना छोड़ा था घर, लौट कर आए तब साफ मिला

By: Vinod Chauhan

Published: 30 Dec 2018, 06:05 PM IST


फतेहपुर. कस्बे में शनिवार रात को चोरों ने एक घर में नकदी व जेवरात पर हाथ साफ कर दिया। सुबह जब मकान मालिक घर लौटा तो वारदात का पता चला। इसके बाद पुलिस को सूचना दी लेकिन चोरों का कोई सुराग नहीं लगा।
जानकारी के अनुसार कस्बे के वार्ड नं 8 में कजियान मस्जिद के पास फारुख पुत्र फतेह मोहम्मद शिशगर का मकान स्थित हैं। फारुख का एक दूसरा भी मकान है। रात को पूरा परिवार दूसरे मकान पर सो रहा था। इसी दरमियान चोरों ने सूने मकान में धावा बोल दिया। चोरों ने मकान में रखा सोने का मंगल सूत्र, चार जोड़ी चांदी की पायजेब व सवा दो लाख रुपए की नकदी पर हाथ साफ कर दिया। सूचना पर पुलिस ने मौका मुआयना किया। फारुक पैसे की माला बनाकर बेचता है। इसलिए घर पर सवा दो लाख रुपए रखे हुए थे। इस दौरान चोरों ने घर के ताले तोडक़र वारदात को अंजाम दे दिया। फारुख सुबह नवाज पढऩे के बाद घर आया तो ताले टूटे मिले। घटना के बाद पुलिस ने चोरों को ढूंढने का प्रयास किया लेकिन सफलत नहीं मिली।
दिन-दहाडे़ चोरी, सात लाख के गहने और नकदी पार
सीकर.शहर में शनिवार दोपहर को वकील व उसके दो भाइयों के घर से चोर दिन-दहाडे़ सात लाख के गहने व ३५ हजार रुपए नकद चुरा ले गए। चोरों ने बच्चों के गुल्लक की राशि तक को नहीं बख्शा। जो कि, साइकिल लाने के लिए बच्चे जोड़-जोड़ कर इकठ्ठे कर रहे थे। चोर आए और केवल तीन घंटे में पूरा घर साफ कर गए। शहर में चोरों का दुस्साहस बढता ही जा रहा है और उनमें पुलिस का भय भी नहीं है। इधर चोरों के आगे पुलिस में पस्त नजर आ रही है। शहर में पांच दिन पहले शेखपुरा में हुई चोरी की वारदात का अभी तक खुलासा नहीं हुआ है।
जानकारी के अनुसार नेहरू पार्क के पास महादेव कॉलोनी में उम्मेद ङ्क्षसह का मकान है। जो कि, टेंट हाउस चलाता है और दोपहर १२ बजे अपने सालासर बस स्टैंड स्थित पुराने मकानों में बच्चों के साथ आया हुआ था। जबकि पत्नी पीहर जयपुर गई हुई थी। यहां से तीन घंटे बाद वह घर पहुंचा तो अंदर मकान व उनमें रखी अलमारियों के ताले टूटे देखकर दंग रह गया। उम्मेद के भाई अधिवक्ता सुरेंद्र का कहना था कि मकान में तीनों भाइयों की अलमारियों में गहने और नकदी रखी हुई थी। चोर आए और तीनों मकानों के ताले तोडक़र चौक के मुख्य गेट को अंदर से बंद कर लिया। इसके बाद सरिए से अलमारी के ताले तोडे़ और उनमें रखा सोने का सेट, चार सोने की अंगूठियां, चांदी की पायजेब व अन्य जेवरात चुरा ले गए। अलमारी में ३५ हजार की नकदी दराज में छुपा के रखी उसे और नए कपडे़ भी निकाल ले गए। पीडि़त पक्ष का कहना है कि घटना को देखते हुए चोरों की संख्या दो से अधिक हो सकती है। लेकिन मकान के आस-पास सीसीटीवी कैमरे नहीं होने के कारण चोरों की निश्चित संख्या का पता नहीं चल पा रहा है। चोरी की सूचना पर चांदपोल चौकी पुलिस मौका-मुआयना करने पहुंची थी।
परिजनों का कहना है कि मुख्य गेट का ताला नहीं तोडक़र ऊपर से चढे़ हैं। ताकि बाहर आने वाले को कोई शक नहीं हो। इसके बाद अंदर के ताले तोडक़र गेट भी भीतर से बंद कर लिया गया।
तीनों मकानों में घुसे और इसके बाद मकान के पीछे स्थित छह फीट की दीवार फांद कर पार हो गए। हालांकि घटना स्थल के आस-पास भी मकान हैं। लेकिन, चोरी की वारदात का किसी को पता नहीं चला। जबकि पीडि़त सुरेंद्र के अनुसार उनके मकान के पास एक रिटायर्ड थानेदार का मकान भी है।

Vinod Chauhan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned