scriptThe throat of a four-year-old innocent was slit with Chinese manjha | हे राम! प्रशासन अब तो करो शर्म.. | Patrika News

हे राम! प्रशासन अब तो करो शर्म..

सीकर/फतेहपुर. चार साल की तड़पती इस मासूम की झकझोर देने वाली ये तस्वीर जितनी वीभत्स है प्रशासन की उतनी ही भत्र्सना होनी चाहिए।

सीकर

Updated: December 29, 2021 12:26:45 pm

सीकर/फतेहपुर. चार साल की तड़पती इस मासूम की झकझोर देने वाली ये तस्वीर जितनी वीभत्स है प्रशासन की उतनी ही भत्र्सना होनी चाहिए। क्योंकि नौकरशाहों की नाकामी से धड़ल्ले से बिक रहे चाइनीज मांझे ने ही इस मासूम की गर्दन को गहरे घाव दिए हैं। रोम- रोम को आंदोलित कर देने वाली फतेहपुर की चार वर्षीय वीरा की ये तस्वीर उन दुकानदारों व ग्राहकों के लिए भी शर्म की बात है जो चाइनीज मांझा बेच व खरीदने का दानवीय कार्य कर भी खुद को मानव मान रहे हैं। इसके घावों से रिसता खून उन संस्थाओं की भी खिल्ली उड़ा रहा है जो उपभोक्ताओं को जगाने का दंभ भरती है....।

हे राम! प्रशासन अब तो करो शर्म..
हे राम! प्रशासन अब तो करो शर्म..


ननिहाल आई थी वीरा, बाल बाल बची जान

फतेहपुर के वार्ड 35 स्थित तेलीयान मोहल्ले में चूरू निवासी चार वर्षीय वीरा पुत्री अदनान अपनी मां शबनब के साथ दो दिन पहले ही ननिहाल आई थी। यहां मंगलवार शाम को वह बच्चों के साथ छत पर खेल रही थी। इसी दौरान एक पतंग कटने पर चाइनीज मांझा आकर इसकी गर्दन पर गिर गया। जो खिंचने के साथ ही उसकी गर्दन में धंस गया। दर्द के मारे जोर से चिल्लाने पर परिजनों ने उसे संभाला। गर्दन पर गहरे जख्म देख एकबारगी तो उनके भी होश उड़ गए। उन्होंने तुरंत मासूम को बावड़ी गेट स्थित निजी अस्पताल पहुंचाया। जहंा चिकित्सकों ने गली सीने के लिए 10 टांके लगाए। चिकित्सक डा. सौरभ महमिया ने बताया कि गनीमत से वीरा की गर्दन की नस बाल बाल बच गई। वरना ये जान के लिए जोखिम होता।

प्रतिबंधित है चाइनीज मांझा
गौरतलब है कि चाइनीज मांझा सरकार द्वारा प्रतिबंधित है। फिर भी इसे चोरी छिपे लाया व बेचा जाता है। लेकिन, जान के जोखिम इस कारोबार को लेकर प्रशासन कभी गंभीरता नहीं दिखाता। हर साल की औपचारिक कार्रवाइयों के चलते ये अवैध कारोबार हर साल बढ़ता जा रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.