वन विभाग के अधिकारी बन कर किराए से रह रहे थे चोर, पुलिस ने पकड़ा तो 15 चोरियों का हुआ खुलासा

सीकर. टुकड़ा गैंग के दो शातिर बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर शहर में हुई 15 चोरियों का खुलासा किया है। दोनों वन विभाग अधिकारी बन कर पिछले तीन महीने से हर्ष गांव की ढाणी में रह रहे थे।

सीकर. टुकड़ा गैंग के दो शातिर बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर शहर में हुई 15 चोरियों का खुलासा किया है। दोनों वन विभाग अधिकारी बन कर पिछले तीन महीने से हर्ष गांव की ढाणी में रह रहे थे। गिरोह में शामिल अन्य चोरों के बारे में पूछताछ की जा रही है। दोनों ने पलसाना, रानोली, हर्ष, जीणमाता जी में चोरी किए जाना कबूल किया है। पुलिस ने एक बाइक, घरेलु सामान व चोरी के औजार बरामद किए। आईपीएस प्रोबेशन वंदिता राणा ने बताया कि प्रहलात कुमावत उर्फ आनंदपाल पुत्र कालूराम निवासी कुमावतों का मौहल्ला पलसाना, रानोली व राजेंद्र उर्फ राजू गुर्जर पुत्र रामेश्वरलाल निवासी सुंदरपुरा, रानोली को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि शहर में लगातार हो रही चोरियों के बाद पुलिस की विशेष टीम बनाई गई। उन्होंने उद्योगनगर थाने से हैड कांस्टेबल सुरेश कुमार, सिपाही देवीलाल, धर्मेंद्र कुमार, कोतवाली से सिपाही राजेश कुमार, सदर थाने से नत्थू सिंह, सुनील कुमार को शामिल किया गया। इसके बाद शहर के आसपास के इलाकों में नजर रखी गई। पुलिस ने टुकड़ा गैंग में शामिल दो दिन पहले हर्ष गांव से एक युवक को पकड़ा था। उससे पूछताछ के बाद दूसरे युवक को गिरफ्तार किया था। दोनों से पूछताछ के आधार पर पुलिस गिरोह में शामिल अन्य चोरों का पता लगा रही है।

सात साल पहले दोनों सिलेंडर चोरी में पकड़े
जांच में सामने आया है कि राजू गुर्जर और प्रहलाल कुमावत दोनों बचपन से ही दोस्त है। दोनों ने सात साल पहले एक स्कूल में सिलेंडर चोरी की वारदात थी। दोनों को पुलिस ने चोरी करते हुए पकड़ लिया था। इसके बाद दोनों साथ-साथ जेल में भी रह कर आए थे। जेल से आने के बाद दोनों काफी समय तक अलग रहे थे। राजू ने टाइल्स का काम शुरू कर दिया और प्रहलाद ने किराणे की दुकान शुरू कर दी।

किराएदार रखने से पहले वेरीफिकेशन करवाएं
आईपीएस प्रोबेशन वंदिता राणा ने कहा कि मकान मालिक किराएदार रखने से पहले वेरीफिकेशन करवाएं। गैंग से जुड़े बदमाशों ने जगह-जगह पर किराए पर कमरे ले रखे है। उन्होंने बताया कि वे झूठ बोलकर किराए पर कमरा ले लेते है। उन्होंने कहा कि लोग लालच में आकर कमरा दे देते है। उन्होंने कहा कि किराएदार रखने से पहले लोगों का वेरीफिकेशन जरूर करवाएं। उन्होंने कहा कि गिरोह से संबंधित कोई बदमाश किराए के मकान में रहते हुए पकड़ा जाएगा तो मकानमालिक के खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned