मुंबई से 1350 किमी सफर तय कर खाटूनगरी पहुंचा ये भक्त

मुंबई से 1350 किमी सफर तय कर खाटूनगरी पहुंचा ये भक्त

Vinod Singh Chouhan | Updated: 14 Jun 2019, 06:11:10 PM (IST) Sikar, Sikar, Rajasthan, India

बाबा के प्रति भक्तों का ऐसा प्यार आपको कहीं देखने को नहीं मिलेगा
मुंबई से पैदल खाटूधाम पहुंचा चंद्रप्रकाश

खाटूश्यामजी. हाथ में बाबा श्याम का निशान और मुख पर जय श्री श्याम का नाम लेकर मुंबई से 1350 किमी का पैदल सफर तय करते हुए 50 दिन में चंद्रप्रकाश ढांढण निर्जला एकादशी को लखदातार के दरबार के शिखर बंद पर निशान अर्पित किया। दरबार में शीश नवांकर देश में सुख शांति की कामना की।
ढांढण बुधवार शाम को खाटूधाम पहुंचे। गौरतलब है कि शेखावाटी के रामगढ शेखावाटी के ढांढण सती गांव के रहने वाले चंद्रप्रकाश ढांढण जो कि मुंबई में कीर्तन जागरण से रोजगार चला रहे हैं। 25 अप्रेल को मुंबई से निशान की पूजा अर्चना कर पदयात्रा पर निकल पड़े। चंद्रप्रकाश ने बताया कि वह रोजाना करीब 30 किमी का सफर तय करते थे। उन्होंने बताया कि गर्मी के दौरान भी मेरी पदयात्रा में कोई समस्या नहीं आई।
म्हारों बेड़ो पार लगा दिज्यो ओ श्याम
खाटूश्यामजी. लखदातार की पावन धार्मिक नगरी खाटूधाम में ज्येष्ठ मास की शुक्ल पक्ष की निर्जला एकादशी पर मासिक मेले में करीब दो लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने बाबा श्याम के दर्शन किए। अल सुबह से ही श्याम दरबार के बाहर लगी बेरिकेटिंग और मेला ग्राउंड में बनी जिगजैग श्याम भक्तों से खचाखच भर गई। अनेक सेवा भावी संस्थान ने भण्डारे लगाए। अधिकतर भण्डारों में ठंडाई, शिकंजी, शरबत, मिल्क रोज, गन्ने का रस, तरबूज सहित प्रसाद की सेवा दी जा रही थी। मेले का समापन शुक्रवार द्वादशी को होगा। सेवा भावी संस्थाओं की ओर से मंदिर मार्ग पर बिना किसी इजाजत के भण्डारे लगा दिए, जिसके चलते पूरे मार्ग पर प्लास्टिक के गिलास, पत्तल, दोने के ढेर फैल गए, जो श्याम दर्शनार्थ आने वाले भक्तों के पैरों में आ रहे थे। गौरतलब है कि नगरपालिका द्वारा मुख्य बाजार और श्याम मंदिर मार्ग पर भण्डारे नहीं लगाने के बोर्ड लगा रखे है। वहीं मुख्य बाजार एवं मंदिर मार्ग पर यात्रियों के दुपहिया वाहन और पुलिस की मौजूदगी में बेतरतीब तरीके से खड़े हुए थे।
श्रीमाधोपुर. कस्बे के श्याम भक्तों ने श्रीश्याम बाबा के दर्शन कर देश में खुशहाली की कामना की। बजरंग लाल अमरसरिया ने बताया कि श्याम मंदिर मंूडरू में भक्तों ने शीश नवाया। यात्रा में आए भक्तों को नींबू पानी पिलाकर मनवार की।
मंदिरों में विशेष अनुष्ठान के साथ ही दान-पुण्य की परंपरा भी निभाई। श्रीरघुनाथजी, गोपीनाथ मंदिरों में भगवान का विशेष शृंगार किया गया। गृहणियों ने मंदिरो व विप्रजनो को पानी के मटके, पंखियां (विजणी), विविध प्रकार के मौसमी फल आम, खरबूजा, तरबूज और अन्य वस्तुएं दान की। श्रीमाधोपुर रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को नींबू पानी पिलाया गया तो कंचनपुर रेलवे स्टेशन पर दिनेश सिंह शेखावत की टीम ने ठण्डा पानी पिलाया व फल वितरण किए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned