सीकर के इस परिवार ने साढ़े 3 करोड़ की जमीन दान कर पाई अनगिनत दुआएं

सीकर के इस परिवार ने साढ़े 3 करोड़ की जमीन दान कर पाई अनगिनत दुआएं

Vishwanath Saini | Publish: Nov, 18 2016 03:27:00 PM (IST) Sikar, Rajasthan, India

दुगोली गांव के रामेश्वर जांगिड़ ने बताया कि लगभग 70 वर्ष पहले गांव के कई परिवारों ने चार हजार रुपए चंदा एकत्रित कर यह 137 बीघा जमीन खरीदी थी।

गांव में शिक्षा की अलख जलाने के लिए एक परिवार ने साढ़े तीन करोड़ रुपए की जमीन दान कर दी है। एक ही परिवार के छह सदस्यों ने राजकीय आदर्श माध्यमिक विद्यालय दुगोली को 45 बीघा जमीन दान देकर अनोखी मिसाल पेश की है। ग्रामीणों का सपना है अब इस जमीन पर विज्ञान संकाय का भवन बनाया जाएगा।




PICS : विदेशों तक पहुंची सोनम गुप्ता की बेवफाई, मां ने भी दिया यह जवाब




भामाशाह सुरजी देवी पत्नी जेठूराम, प्रहलाद, केशरीदेवी व विजयपाल ने विद्यालय को जमीन दान दी। भामाशाहों की इस पहल के बाद गांव के कई लोग भी विद्यालय सहित अन्य सरकारी कार्यालयों को जमीन दान देने का मन बना रहे हैं।



अतिक्रमण से बचेगी


वर्षों से खाली पड़ी इस जमीन पर पिछले कई वर्षों से अतिक्रमण हो रहा था। एेसे में पटवारी श्रवण कुमार ने इस परिवार को जमीन दान करने के लिए प्रोत्साहित किया। पटवारी के कई वर्षों के प्रयास के बाद परिवार ने जमीन दान कर दी।



बनेगी नई पहचान


भामाशाहों ने बताया कि वर्तमान दौर में सबसे बड़ा पुण्य यही है कि युवाओं को पढ़ाया जाए। गांव में विज्ञान संकाय नहीं होने के कारण बेटे-बेटियों को दूर-दराज जाकर पढ़ाई करनी पड़ती है। उनका मकसद है कि यहां जल्द अब विज्ञान संकाय की राजकीय स्कूल शुरू हो ताकि, युवाओं का शिक्षा का सपना नहीं टूटे।



04  हजार में खरीदी थी 137 बीघा जमीन



गांव के रामेश्वर जांगिड़ ने बताया कि लगभग 70 वर्ष पहले गांव के कई परिवारों ने चार हजार रुपए चंदा एकत्रित कर यह 137 बीघा जमीन खरीदी थी। इसके बाद गांव के कुछ मुख्य परिवारों के नाम यह जमीन कराई गई। इसमें से ही इस परिवार ने जमीन दान दी है।


READ MORE : जमील अपनी तनख्वाह में से 15 प्रतिशत के हिसाब से आईएस को हर माह भेज रहा था इतने रुपए




दुगोली के एक परिवार ने स्कूल के लिए 45 बीघा जमीन दान दी है। यहां जमीन की कीमत औसत आठ लाख रुपए बीघा है। कई अन्य परिवारों को भी स्कूल सहित अन्य विभागों के लिए जमीन दान देने के लिए प्रोत्साहित किया गया है।

-श्रवण कुमार महरिया, पटवारी, दुगोली

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned