व्यापारियों ने निकाली रैली, पुलिस के खिलाफ लगाए नारे

राजस्थान के सीकर शहर में सत्संग भवन के पास 23 जुलाई को व्यापारी की कार से चोरी हुए 10.26 लाख रुपए की घटना के विरोध में व्यापारियों ने गुरुवार को शहर में रैली निकालकर आक्रोश जताया।

By: Sachin

Updated: 29 Jul 2021, 01:22 PM IST

सीकर. राजस्थान के सीकर शहर में सत्संग भवन के पास 23 जुलाई को व्यापारी की कार से चोरी हुए 10.26 लाख रुपए की घटना के विरोध में व्यापारियों ने गुरुवार को शहर में रैली निकालकर आक्रोश जताया। व्यापार संघ संघर्ष समिति के बैनर तले रैली जाट बाजार से कलेक्ट्रेट तक निकाली गई। जिसमें व्यापारियों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारे लगाए। बाद में कलक्टर व एसपी को ज्ञापन सौंपा। जिसमें लूट के आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने, लूट की राशि बरामद नहीं होने पर राज्य सरकार से मुआवजा दिलाने व शहर में अपराध पर लगाम के लिए निगरानी व सुरक्षा व्यवस्था मजबूत करने की मांग की गई। मांग जल्द पूरी नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी भी दी गई। इससे पहले व्यापारी सुबह से ही जाट बाजार में इक_ा होना शुरू हो गए थे। जहां सभा के बाद रैली स्टेशन रोड व कल्याण सर्किल होते हुए कलेक्ट्रेट पहुंची।

अपराधियों के नजदीक पुलिस जल्द करेगी खुलासा
इधर, लूट के आरोपियों को एसपी कुंवर राष्ट्रदीप ने जल्द गिरफ्तार करने की बात कही है। उन्होंने व्यापारियों को बताया कि पुलिस आरोपियों के बेहद करीब है। जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

सभा में लिया था फैसला
इससे पहले व्यापार संघ संघर्ष समिति के नेतृत्व में सभी व्यापार संगठनों ने बुधवार को बद्री विहार में सभा की थी। बैठक में सभी वक्ताओं ने 23 जुलाई की लूट की घटना तथा अपराधियों को ना पकड़े जाने पर पुलिस नाकामी पर पर आक्रोश जताया। बैठक में ही आज की रैली का फैसला लिया गया था। बैठक व प्रदर्शन में जुगल किशोर अग्रवाल, महावीर चौधरी, रामचंद्र चौधरी, प्रदीप पारीक, ओमप्रकाश कामदार, सुधीर कुमार गर्ग, सुरेश कुमार अग्रवाल, रामप्रसाद मिश्रा, देवकीनंदन पारीक, नितेश परमुवाल, बनवारीलाल मालपानी, अमित चिरानिया, संजीव नेहरा, कांतिप्रसाद पंसारी, मनोज पंसारी, अरुण अग्रवाल, हुक्मीचंद तोदी, सुरेश कुमार, कमल डोलिया, विनोद नायक सहित बड़ी संख्या में व्यापारी शामिल हुए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned