नीमकाथाना सबजेल में किया सर्च ऑपरेशन, मिले दो मोबाइल

-प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों ने 1 घंटे तक की बैरिकों व कैदियों की सघन तलाशी
-पांच थानों की पुलिस ने एक साथ सबजेल में प्रवेश कर शुरू किया सर्च ऑपरेशन
-निरीक्षण के दौरान कैदियों में मचा हड़कंप
-पुलिस ने कोतवाली थाना में करवाया मामला दर्ज
-मोबाइल कॉल डिटेल निकलने के बाद पता चलेगा कैदियां के किससे जुड़े है तार

By: Ashish Joshi

Published: 03 Apr 2021, 09:00 AM IST

सीकर/नीमकाथाना. जेल में बंद अपराधी मोबाइल से धमकी देकर वसूली मांगने का खेल शुक्रवार को सबजेल में मिले मोबाइलों ने पुख्ता कर दिखाया है। पुलिस को तलाशी में मिले दोनों मोबाइल रसोई घर में छत व प्लास्टर के बीच पॉलिथिन में छिपे हुए रखे थे। पुलिस ने दोनों मोबाइलों को जब्त कर कोतवाली थाना में मामला दर्ज करवाया है। मोबाइल अंदर कैसे पहुंचा व कब से प्रयोग में लिया जा रहा है, पुलिस इसकी कॉल डिटेल निकलवाने के बाद ही पुष्टि कर पाएगी। सबजेल में मोबाइल मिलने पर कैदियों में हड़कंप मच गया। जानकारी के अनुसार उपखंड अधिकारी बृजेश गुप्ता, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रतनलाल भार्गव, पुलिस उपाधीक्षक गिरधारी लाल शर्मा के नेतृत्व में शाम ५.१५ बजे वृतखंड के पांच थानों की पुलिस टीम ने निरीक्षण शुरू किया। पुलिस अधिकारियों ने करीब एक घंटे तक कैदियों व उनके बैरिकों की बारिकी से तलाशी ली। इसी दौरान जवानों ने जैसे ही रसोई घर की तलाशी शुरू की तो छत व प्लास्टर के बीच में एक पॉलिथिन दिखाई दी, जिसको बाहर निकालकर देखा तो उसमे मिले दो मोबाइलों को देख अधिकारी भी दंग रह गए। हालांकि निरीक्षण के दौरान पुलिस को बैरिकों में बिड़ी, सिगरेट, पान मसाला जैसी कोई सामग्री नहीं मिली। जबकि जेलों के औचक निरीक्षण में ऐसी सामग्री संभवतया मिल ही जाती है।
---------------------
सुरक्षा व्यवस्था पर उठा सवालियां निशान
सबजेल में मिले दो मोबाइलों ने सुरक्षा व्यवस्था पर सवालियां निशान उठा दिया है। जेल में बंद कैदियों के पास मोबाइल कैसे पहुुंचा, पुलिस इसकी जांच कर रही है। जबकि जेल के बाहर २४ घंटे सुरक्षा व्यवस्था को लेकर गार्ड भी तैनात रहते है। इसके अलावा समय -समय पर जेल प्रशासन भी कैदियों की तलाशी लेते रहते है।
------------------
टीम को अंतिम समय तक नहीं, पता कहां चलना है
प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों ने सबजेल में इतने गोपनीय तरीके से औचक निरीक्षण किया कि जवानों को अंतिम समय तक जानकारी नहीं थी कि कार्रवाई कहा की जानी है। निरीक्षण के थोड़ी देर पहले टीम को सबजेल में तलाशी लेने का पता लगा। शाम को जैसे ही अधिकारियों की गाड़ी एक साथ जेल के बाहर आकर रुकी तो आसपास के लोग भी हरकत में आ गए।
--------------------
निरीक्षण में यह रहे शामिल
निरीक्षण में तहसीलदार सतवीर यादव, कोतवाल राजेश कुमार, सदर थानाधिकारी लालसिंह, पाटन थानाधिकारी नरेन्द्र भड़ाणा, थोई थानाधिकारी संगीता मीणा, खंडेला थानाधिकारी महेन्द्र मीणा सहित पुलिस के जवान शामिल थे।

--------------------
इनका कहना है....
सबजेल का औचक निरीक्षण किया गया। जिसमे रसाई की छत व प्लास्टर के बीच में दो मोबाइल मिलने पर कोतवाली थाना में मामला दर्ज करवाया गया है। दोनों मोबाइल सबजेल में कैसे पहुंचे इसकी जानकारी जुटाई जा रही है।
रतनलाल भार्गव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, नीमकाथाना
-------------------------
उच्च अधिकारियों के निर्देश पर पुलिस अधिकारियों के साथ कार्य योजना बनाकर सबजेल का औचक निरीक्षण किया गया। जिसमे नीमकाथाना एएसपी, सीओ सहित पांच थानों की पुलिस टीम मौजूद रही। निरीक्षण के दौरान दो मोबाइल मिले है। आगे भी इसी तरह औचक निरीक्षण किया जाएगा।
बृजेश गुप्ता, उपखंड अधिकारी, नीमकाथाना

Ashish Joshi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned