यूजर चार्ज खत्म, किसानों को राहत

यूजर चार्ज खत्म, किसानों को राहत

Vinod Singh Chouhan | Publish: Jul, 20 2019 05:34:06 PM (IST) Sikar, Sikar, Rajasthan, India

अगले माह से मंडी में फल व सब्जी पर यूजर चार्ज नहीं लगेगा
सीकर मंडी में हर साल सवा करोड़ आता है यूजर चार्ज

सीकर. सरकार ने कृषि मंडियों में माल बेचने आने वाले किसानों को बड़ी राहत देते हुए यूजर चार्ज खत्म कर दिया है। इससे किसानों के साथ आमजन को भी बड़ी राहत मिलेगी। लेकिन मंडी प्रशासन की खुद के दम पर विकास करने की योजना को तगड़ा झटका दिया है। मंडी प्रशासन का तक है कि इससे मंडियों की आर्थिक स्थिति पूरी तरह डांवाडोल हो जाएगी। मंडियों की अचानक आय गिर जाएगी। जिसका सीधा असर मंडी में किसानों को दी जाने वाली सुविधाओं पर पड़ेगा। कई मंडियां की राजस्व श्रेणी भी गिर जाएगी। जिससे मंडी में श्रेणी के हिसाब से मिलने वाले अनुदान पर भी पड़ेगा। गौरतलब है कि सीकर में फल व सब्जी पर यूजर चार्ज के रूप में हर साल करीब सवा करोड़ रुपए का आता है।
इन पर पड़ेगा असर
फल सब्जी पर प्रति सैंकड़ा 1 रुपया 51 पैसा शुल्क लिया जाता है। यह शुल्क मंडी समिति की बैठक में मंडी परिसर में बनने वाली सडक़, पेयजल सुविधा, बिजली, मेंटीनेंस सरीखे काम के लिए लिया जाता है। इन कार्यों के लिए अलग से बजट का प्रावधान नहीं होने से अब ये कार्य नहीं हो पाएंगे जिससे कई मंडियों में किसानों को पीक सीजन में ये सुविधाएं नहीं मिल पाएगी।
फिलहाल तिथि तय नहीं
मंडी में फल व सब्जी पर यूजर चार्ज खत्म करने की तिथि की घोषणा नहीं हुई है। यूजर चार्ज खत्म करने का निर्णय मुख्यालय स्तर पर होता है। - देवेन्द्र सिंह बारहठ, मंडी सचिव सीकर कृषि उपज मंडी
चेतावनी के बाद डेयरी ने खींचे हाथ
पलसाना. सीकर एवं झुंझुनूं जिला दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ पलसाना से जुड़ी दुग्ध उत्पादक समितियों के सचिवों की ओर से विभिन्न अपनी मांगों को लेकर शनिवार से दूध बंद की चेतावनी दिए जाने के बाद डेयरी अधिकारियों ने समिति सचिवों के साथ वार्ता कर सचिवों की मांगें मान ली है। इसके बाद सचिवों ने दूध बंद का निर्णय वापस ले लिया है। डेयरी एमडी केसी मीणा ने बताया कि शुक्रवार को सचिवों के साथ धोद क्षेत्र के सोमोलाई बालाजी मंदिर में वार्ता हुई, जिसमें सचिवों की मांगों को लेकर चर्चा कर ऑनलाइन डॉटा फीड करने को लेकर सचिवों को राहत दी गई है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned