राजस्थान में यहां बेटी-पत्नी की इज्जत दांव पर, परिवार का जीना हुआ मुश्किल

राजस्थान में यहां बेटी-पत्नी की इज्जत दांव पर, परिवार का जीना हुआ मुश्किल

Vinod Singh Chouhan | Publish: May, 16 2019 12:07:01 PM (IST) | Updated: May, 16 2019 12:07:02 PM (IST) Sikar, Sikar, Rajasthan, India

गैर कानूनी तौर पर जिले में सूदखोरी का धंधा पनपता जा रहा है। सूदखोरी के कारण शहर में दो आत्महत्या के बाद इस बार एक बेटी और पत्नी की इज्जत दांव पर लगी है।

सीकर/थोई.

गैर कानूनी तौर पर जिले में सूदखोरी का धंधा पनपता जा रहा है। सूदखोरी के कारण शहर में दो आत्महत्या के बाद इस बार एक बेटी और पत्नी की इज्जत दांव पर लगी है। जिसमें दबंग सूदखोरों ने ब्याज के पौने तीन लाख रुपए वसूलने के बाद भी उधारी के साढ़े पांच लाख रुपए बकाया निकाल रखे हैं। इनको चुकता नहीं करने पर पीडि़त की बेटी और पत्नी को घर से उठा ले जाने की धमकी देते हुए दोनों का जीवन बर्बाद कर देने की चेतावनी दी है। इधर, अपहरण और घर से अगवा होने के डर से खैरवा की ढाणी सुराणी, कल्याणपुरा थोई का यह पीडि़त परिवार सदमे में है तथा आरोपियों से बचाने के लिए पुलिस से मदद की गुहार लगाई है। पुलिस अधीक्षक को सौंपे गए परिवाद में पीडि़त रामजीलाल खैरवा ने बताया कि सूदखोर महेश और रूड़ाराम को वह उधारी से ज्यादा ब्याज दे चुका है। बावजूद इसके वे दोनों साढ़े पांच लाख रुपए और मांग रहे हैं। इसके लिए उन्होंने उसे 15 दिन का समय दिया है और नहीं देने पर घर आकर उसकी बेटी रेखा और पत्नी मेवा देवी को जबरन उठा ले जाने की धमकी दी है। घटना के बाद उसके लडक़े योगेश व विमलेश भी घबरा गए हैं। डर के कारण स्कूल नहीं जा रहे हैं।


10 रुपए सैकड़ा ब्याज
रामजीलाल के अनुसार वह ट्रक चलाकर परिवार का पेट पालता है। उसने सूदखोरों से एक बार पौने दो लाख रुपए घरेलू काम के लिए उधार लिए थे, जिसके बदले ढाई लाख अदा कर दिए। दोबारा जरूरत पडऩे पर एक लाख की जगह इनको दो लाख 95 हजार चुकाए। अब नाजायज तरीके से 5 से 10 रुपए सैकड़ा ब्याज लगाकर साढ़े पांच लाख रुपए और चुकने पर आमादा है।

परिवार का जीना हुआ मुश्किल
पीडि़त परिवार का कहना है कि सूदखोरों ने रुपए देने के दौरान तीन खाली हस्ताक्षर युक्त चेक, दो खाली स्टांप गिरवी रख लिए थे। सादे कागज पर पीडि़त के हस्ताक्षर भी करवा रखे हैं। उधारी का सारा पैसा देने के बाद उन्हें चेक व स्टांप लौटा नहीं रहे हैं। उल्टा परिवादी को ही चेक बाउंस का झूठा मुकदमा लगा कर फंसाने की बात कह रहे हैं। दोनों ने परिवादी व उसकी पत्नी सहित बच्चों को आत्महत्या के लिए मजबूर कर जीना ***** कर रखा है।

पुलिस अधीक्षक के आदेश पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। डराने-धमकाने वाले सूदखोरों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। प्रकरण की जांच एएसआइ भगवान सिंह को सौंप दी है। -भूपसिंह, थानाधिकारी, थोई

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned