scriptVery heavy rain in Rajasthan in 24 hours, very heavy in Kota division | Monsoon Update : राजस्थान में 24 घंटे में अत्यंत भारी बारिश का अलर्ट, पढ़ें पूरी खबर | Patrika News

Monsoon Update : राजस्थान में 24 घंटे में अत्यंत भारी बारिश का अलर्ट, पढ़ें पूरी खबर

Monsoon Update : बंगाल की खाड़ी में गहरा कम दबाव का क्षेत्र बन गया है, जिसके चलते अगले चार दिन तक कई राज्यों में मानसून की सक्रियता अधिक रहेगी। उधर, राजस्थान में भी इसका असर दिखाई देगा।

सीकर

Updated: August 14, 2022 03:52:24 pm

Monsoon Update : बंगाल की खाड़ी में गहरा कम दबाव का क्षेत्र बन गया है, जिसके चलते अगले चार दिन तक कई राज्यों में मानसून की सक्रियता अधिक रहेगी। उधर, राजस्थान में भी इसका असर दिखाई देगा। यहां 15 से 17 अगस् तक कुछ संभागों में भारी, कहीं अति भारी और एक संभाग में अत्यंत भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। जिसके चलते कुछ जिलों में बाढ़ की स्थिति भी बन सकती है। माना जा रहा है कि 17 अगस्त के बाद भी मानसून की सक्रियता बनी रहेगी।

heavy_rain_in_rajasthan_1_4894516_835x547-m.jpg

कोटा संभाग में अत्यंत भारी बारिश
मौसम केन्द्र जयपुर के अनुसार उत्तरी बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ था, जो शनिवार को अति गहराई में परिवर्तित हो गया है। वतर्मान में यह क्षेत्र उड़ीसा व आसपास लगने वाले पश्चिम बंगाल के ऊपर बना हुआ है। धीरे-धीरे ओडिशा और मध्य प्रदेश से होकर पश्चिम-उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर से आगे बढ़ने से राजस्थान में अगले चार दिन तक असर दिखाएगा। वैसे तो सभी संभागों में असर दिखाई देगा, लेकिन सबसे ज्यादा असर, कोटा, उदयपुर और जोधपुर संभाग में दिखाई देगा। इससे पहले रविवार को भी राजस्थान में बारिश का दौर जारी रहने की संभावना है, लेकिन मध्यम से भारी बारिश के रूप में ही असर रहेगा। यह भी कहा जा रहा है कि अगले 24 घंटों के दौरान कोटा संभाग में अत्यंत भारी बारिश की संभावना बनी हुई है।

तत्कालीन पूर्वानुमान
जयपुर मौसम केन्द्र की माने तो अगले कुछ घंटों के दौरान जयपुर, जयपुर शहर, दौसा, अलवर, भरतपुर, धौलपुर, करौली, सवाईमाधोपुर, टोंक, बूंदी, कोटा, बारां, झालावाड़, अजमेर, नागौर ,सीकर, चूरू जिलों और आसपास के क्षेत्रों मे कुछ स्थानों पर मेघगर्जन /आकाशीय बिजली के साथ हल्की से मध्यम वर्षा का दौर जारी रहने की संभावना है।

बीसलपुर का जलस्तर 311.38 आरएल मीटर
बीसलपुर बांध में पानी की आवक लगातार बनी हुई है, जिसके चलते रविवार दोपहर तक बांध का जलस्तर 311.38 आरएल मीटर तक पहुंच गया है। उधर, बांध के भराव क्षेत्र में बह रही त्रिवेणी अभी 3.90 मीटर की ऊंचाई पर है। हालाकि भराव क्षेत्र में बारिश नहीं होने से त्रिवेणी का जलस्तर लगातार कम हो गया है, लेकिन अगले 24 घंटों के भीतर भारी से अति भारी और कुछ स्थानों पर अत्यंत भारी बारिश के चलते त्रिवेणी की ऊंचाई बढ़ने की संभावना जताई जा रही है। चार दिन तक मानसून की सक्रियता रहेगी तो बीसलपुर का जलस्तर 313 आरएल मीटर को पार कर सकता है।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

इंडोनेशिया में फुटबॉल मैच के दौरान दंगा, 129 से अधिक लोगों की मौत, 180 घायलगांधी जयंती: राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, पीएम मोदी, सोनिया गांधी सहित अन्य नेताओं ने बापू को दी श्रद्धांजलिगांधीवादी पीवी राजगोपाल का बड़ा सवाल, राष्ट्रीय पशु-पक्षी के लिए कानून, लेकिन राष्ट्रपिता के लिए क्यों नहींNavi Mumbai Building Collapsed: नवी मुंबई में चार मंजिला इमारत गिरी, एक की मौत, कई लोगों के दबे होने की आशंकाNo PUC - No Fuel: दिल्ली में इस दिन से बिना PUC के नहीं मिलेगा पेट्रोल, जानें क्या है नया नियमअमरीका, ऑस्ट्रेलिया और जापान ने चीन के खिलाफ मिलकर काम करने का लिया संकल्पहीरा खोजने 20 हजार लोग जा पहुंचे जंगल, मिले करोड़ों के हीरेMahatma Gandhi Jayanti 2022: महात्मा गांधी के बारे में अनसुनी बातें, चोरी से लेकर झूठ बोलने तक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.