VIDEO ठिठुरा शेखावाटी : सीकर के खेतों में जमी बर्फ, न्यूनतम तापमान 0.5 डिग्री सेल्सियस

सीकर के राधाकिशनपुरा इलाके के सुबह खेतों में रबी की फसल के पौधों पर ओस की बूंदे व कहीं-कहीं बर्फ जमी नजर आई।

By: vishwanath saini

Published: 09 Dec 2017, 05:43 PM IST

सीकर. अरब सागर से उठे चक्रवात ओखी का भले ही असर खत्म हो गया, लेकिन शेखावाटी में पिछले तीन दिन में मौसम पूरी तरह पलट गया है। बीती रात से तेज सर्दी के कारण लोगों की धूजणी छूट गई। नमी बढऩे से गलन ने लोगों को बेहाल कर दिया। सुबह खेतों में रबी की फसल के पौधों पर ओस की बूंदे व कहीं-कहीं बर्फ जमी नजर आई।

 

 

SIKAR : बहन का होता रहा रेप, चचेरा भाई व बहन खड़े-खड़े देखते रहे, जानिए क्या है पूरा मामला

 

 

सुबह नौ बजे तक गर्म कपडों में लिपटे रहने के बावजूद लोगों को तेज सर्दी का अहसास हुआ। दोपहर में तेज धूप ने कुछ राहत दी लेकिन सूर्यास्त के बाद लोगों ने अलाव तापकर सर्दी से निजात पाई। सर्दी से बचाव के लिए लोग पूरी तरह से गर्म कपड़ों में लदे नजर आए। जगह-जगह अलाव तापा गया। सीकर जिले के फतेहपुर कृषि अनुसंधान केन्द्र पर न्यूनतम पारा 0.5 डिग्री व अधिकतम तापमान डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

अगेती सरसों में नुकसान
कड़ाके की सर्दी के कारण अगेती सरसों पर संकट बना हुआ है। किसानों को हवाएं चलने से फसल खराब होने की चिंता सता रही है। कृषि विभाग की माने तो सर्दी के कारण फली का दाना सिकुड़ जाता है। इससे दाना पकाव नहीं ले पाता है। हालांकि जौ व गेहूं की फसल को सर्दी के कारण फायदा हो रहा है। बाजार में दुकानें देर से खुल रही और शाम को जल्दी बंद हो रही है। बसों व रेलवे में यात्रीभार गिर गया है।

Sikar Sardi photo

गजक-रेवड़ी की बिक्री बढ़ी
जिले में सर्दी के तेवर तीखे होने से गजक-रेवड़ी की दुकानों की ग्राहकों की भीड़ लगनी शुरू हो गई है। दुकानों पर इनकी जमकर खरीद हो रही है। इसके अलावा गर्म कपड़ों की खरीदारी भी परवान पर है। शहर में देहरादून व तिब्बत वालों में विशेष मार्केट भी लगाए हैं।

तस्वीर-सीकर के राधाकिशनपुरा इलाके की

vishwanath saini Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned