झकझोर देने वाली घटना: प्रेमी युगल को पूरे गांव के सामने किया निर्वस्त्र, वीडियो वायरल

सीकर जिले के ग्रामीण क्षेत्र में खाप पंचायत की अंदर तक झकझोर देने वाली वारदात सामने आई है।आरोप है कि प्रेम संबंधों के चलते सांसी समाज के पंच पटेलों ने प्रेमी युगल को पूरे गांव के सामने निर्वस्त्र कर दिया।

By: Sachin

Updated: 02 Sep 2020, 09:55 AM IST

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले के ग्रामीण क्षेत्र में खाप पंचायत की अंदर तक झकझोर देने वाली वारदात सामने आई है।आरोप है कि प्रेम संबंधों के चलते सांसी समाज के पंच पटेलों ने प्रेमी युगल को पूरे गांव के सामने निर्वस्त्र कर दिया। इसके बाद शुद्धिकरण के नाम पर उन्हें नहलाया गया। दोनों पर 51 हजार रुपए का जुर्माना लगाया। ग्रामीण इलाके में 21 अगस्त को हुए इस मामले का खुलासा मंगलवार को उस समय हुआ जब सांसी समाज सुधार एवं विकास न्यास के जुड़े लोगों ने पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन देकर इस मामले में कार्रवाई की मांग की। पुलिस ने पंचायती में भाग लेने वाले नौ लोगों को नामजद करते हुए मामला दर्ज कर लिया है। हालांकि मामले की हकीकत पुलिस की जांच के बाद ही सामने आ सकेगी। प्रेमी- प्रेमिका के बीच चाची - जेठूते का दूर का संबंध भी बताया जा रहा है। जिनका आपत्तिजनक वीडियो भी वायरल हो रहा है।

दावा: समाज की पंचायती में थे गांव के तीन सौ लोग
न्यास के प्रदेशाध्यक्ष सवाईसिंह मालावत व महासचिव राकेश कुमार बीदावत के नेतृत्व में दिए गए ज्ञापन में बताया गया है कि इस महिला के गांव के ही एक युवक से प्रेम संबंध की बात समाज के लोगों को पता चल गई। समाज के कथित पंच-पटेल वहां पर पहुंच गए। यह पंचायती देखने के लिए वहां गांव के भी करीब तीन सौ लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। युवक और महिला को वहां पर बुलाया गया। पंच-पटेलों ने महिला को दिन में ही निवस्त्र होकर वहां पर नहाने की सजा सुनाई। इस पर महिला को वहीं पर नहाना पड़ा। बाद में महिला पर अवैध संबंध रखने का आरोप लगाकर दो बार 11-11 हजार और युवक पर 31 हजार रुपए का जुर्माना लगाया। जुर्माने की यह राशि पंचों ने बांट ली।


लम्बे समय से सक्रिय है यह खाप पंचायत

न्यास के पदाधिकारियों का कहना है कि यह कथित पंच-पटेल समाज में किसी भी तरह का विवाद होने पर पहुंच जाते हैं। समाज के गरीब और अनपढ़ लोगों को समाज से बाहर निकालने का डर दिखाकर न्याय के नाम पर मोटी रकम हड़प लेते हैं। यह समाज के लोगों के बीच जज की तरह पेश आते हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ पहले भी राजस्थान महिला आयोग की अध्यक्ष को शिकायत दी गई थी। आयोग ने इन पंचों को जयपुर कार्यालय में बुलाकर भविष्य में ऐसा नहीं करने के लिए पाबंद किया था। इसके बाद भी यह अपनी पंचायती से बाज नहीं आ रहे हैं। पंचायती के दौरान कोविड-19 के नियमों की पालना भी नहीं की गई। ज्ञापन देने के दौरान सांसी समाज के समाज के भगवानाराम, शिवकरण मालावत, दिलीप कुमार आदि थे।

पुलिस ने लिए बयान...पीडि़त बोले हमे नहीं कोई शिकायत

खाप पंचायत का यह मामला सामने आने पर ज्ञापन के आधार पर मामला दर्ज कर नेछवा पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची। थानाधिकारी ने बताया कि पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पीडि़त परिवारों से बात की। पीडि़त परिवारों ने पंचों से किसी तरह की शिकायत नहीं होना बताया है। महिला को निवस्त्र करने की बात की भी पुष्टि नहीं हुई है। पुलिस ने कोरोना के नियमों का उल्लंघन सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है। हकीकत मामले की जांच के बाद ही सामने आ सकेगी।

 

परिवार बुलाता है पंचायत, आरोप गलत

सीकर. प्रेम संबंधों के चलते पंचायत में महिला को निवस्त्र करने के मामले में पंचायत में शामिल पंचों ने आरोप को गलत बताया है। पंचायत में शामिल रहे राजू ने बताया कि पंचायत घर के झगड़े घर में ही निपटाने के लिए बुलाई जाती है। इस मामले में भी समाज के प्रमुख लोगों ने बैठकर जुर्माना लगाया था, जिसे दोनों पक्षों ने स्वीकार किया था। महिला को निवस्त्र करने जैसी कोई घटना वहां पर नहीं हुई। बकौल राजू पंचायत पीडि़त परिवार ही बुलाता है। इस मामले में आरोप लगाने वाले लोग भी समाज के ही है। उनकी पीड़ा यह है कि पीडि़त परिवारों ने पंचायत में उनको नहीं बुलाया। ऐसे में वे मनगढंत आरोप लगा रहे हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned