scriptVillagers upset due to shortage of drinking water | Drinking water: गांव-ढाणियों से लेकर शहर में हाहाकार, कल से 300 गांवों में नहरबंदी से आफत | Patrika News

Drinking water: गांव-ढाणियों से लेकर शहर में हाहाकार, कल से 300 गांवों में नहरबंदी से आफत

हांफा सिस्टम: फतेहपुर, रामगढ़ व लक्ष्मणगढ़ इलाकों में दो दिन नहीं हो सकेगी सप्लाई

1439 टैंकर भी नहीं दे पा रहे लोगों को राहत

जिले के 700 से अधिक गांव-ढाणियों में पानी ही सबसे बड़ी समस्या

सीकर

Published: May 21, 2022 10:47:46 am

सीकर. गर्मी के तीखे तेवरों की वजह से जलदाय विभाग के संसाधन पूरी तरह हांफने लग गए है। गांव-ढाणियों से लेकर शहर और कस्बों में भी पानी को लेकर हाहाकार मचा हुआ है। जलदाय विभाग की ओर से राहत देने के लिए 700 से अधिक गांव-ढाणियों को राहत देने के लिए रोजाना 1439 से अधिक टैंकरों की सप्लाई की जा रही है। इसके बाद लोगों के सूखे हलक तर नहीं हो पा रहे है। इस बीच पंजाब में नहर की मरम्मत की वजह से रविवार व सोमवार को लक्ष्मणगढ़, फतेहपुर व रामगढ़-शेखावाटी इलाके के 300 से अधिक गांव-ढाणी व तीनों कस्बों में सप्लाई प्रभावित होगी। जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता चुन्नीलाल ने बताया कि धन्नासर हैड वर्क्स पर 1.70 मीटर जल स्तर शेष है। इस वजह से नहर विभाग की ओर से पेयजल कटौती का फैसला लिया है। इस मुद्दे पर उन्होंने बताया कि 24, 26 व 28 मई को यहां जलापूर्ति होगी। लेकिन 30 मई से सप्लाई दुबारा सप्लाई पुरानी व्यवस्था के तहत बहाल हो सकेगी। इधर, गर्मी की वजह से लगातार पेयजल शिकायतें दर्ज हो रही है।

Drinking water: गांव-ढाणियों से लेकर शहर में हाहाकार, कल से 300 गांवों में नहरबंदी से आफत
Temperature 46 degrees, making it safe to travel in your train,Temperature 46 degrees, making it safe to travel in your train,Drinking water: गांव-ढाणियों से लेकर शहर में हाहाकार, कल से 300 गांवों में नहरबंदी से आफत

इसलिए बढ़ रहा मर्ज

1. गिरता जलस्तर: हर साल सूख रहे 100 से ज्यादा ट्यूबवैल

जिले में गिरते जलस्तर की वजह से हर साल जिलेभर में 100 से अधिक ट्यूबवैल सूख रहे है। गर्मियों के सीजन में 35 से अधिक ट्यूबवैल सूख चुके है। इस वजह से लोगों की परेशानी बढ़ रही है। वहीं हैण्डपंप भी जिलेभर में लगातार सूख रहे हैं।

2. नहरी योजना: दस साल से गूंज रहा मुद्दा

जिले में दस साल से नहरी योजना का इंतजार है। पिछले दिनों बजट में सरकार की ओर से मंजूरी दी गई। लेकिन अभी तक काम शुरू नहीं हो सका है। यदि यह योजना धरातल पर आती है तो जिले के छह विधानसभा क्षेत्र के लोगों को राहत मिल सकती है।

3. जलदाय विभाग के पास संसाधनों का टोटा:

तकनीकी कर्मचारियों से लेकर अन्य संसाधनों का जलदाय विभाग में टोटा है। वहीं गर्मियों से पहले विभाग के बेहतर तरीके से मांग का आंकलन नहीं कर पाने की वजह से भी समस्या बढ़ रही है।

शहर: पानी के लिए सड़कों पर उतरे सभापति के वार्ड के लोग जिला कलक्टर के आवास पर मटका फोड़ कर किया प्रदर्शन

सीकर. नगर परिषद सभापति के वार्ड के लोग भी पीने के पानी को तरस रहे हैं। वार्ड नंबर 34 व 35 में एक साल वर्ष से पानी की समस्या से परेशान मोहल्लेवासियों का गुस्सा फूट पड़ा। शुक्रवार को जिला कलक्टर के आवास पर प्रदर्शन किया। इस दौरान वार्डवासियों ने पानी के खाली मटके फोड़कर विरोध जताया। आरोप है कि प्रदर्शनकारियों को मौके पर पहुंची पुलिस ने धमकाते हुए वापस घरों की ओर भेज दिया। वार्ड के निवासियों का आरोप है कि पिछले 15 दिन से पीने के लिए पानी की समस्या को लेकर काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। समस्या को लेकर नगर परिषद सभापति सहित जनप्रतिनिधियों से कई बार गुहार लगाई गई लेकिन किसी ने सुनवाई नहीं की। इसके बाद शुक्रवार को जिला कलक्टर आवास पर प्रदर्शन किया गया। वार्डवासियों ने चेतावनी दी है कि समस्या का समाधान नहीं किया गया तो धरना दिया जाएगा।

गांव: तीन ट्यूबवेल होने के बाद भी ग्रामीण प्यासे

इधर ग्राम पंचायत पुरां बड़ी में तीन-तीन ट्यूबवैल होने के बाद भी ग्रामीण पीने के पानी के लिए परेशान हैं। गांव के निवासी व सहायक कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष भंवरलाल ने बताया कि गांव में तीन ट्यूबवेल लगे हैं। इनमें से दो 24 घंटे चलते हैं। इससे पानी की बर्बादी होती है। ग्रामीणों का आरोप है कि ट्यूबवैल चलाने वाले कर्मचारियों की कथित मनमानी के चलते ग्रामीणों को पीने के लिए पर्याप्त पानी नहीं मिल पा रहा है। ग्रामीणों ने समस्या के निराकरण के लए पहाड़ी पर टंकी व एक और ट्यूबवैल बनाने की मांग की है।
शेखपुरा इलाके के लोगों की शिकायत मिली है। ऊंचाई पर लो प्रेशर की समस्या है। पिछले दिनों अतिरिक्त पाइप लाइन बिछाने के भी प्रयास किए गए थे, लेकिन कुछ लोगों के विरोध करने की वजह से यह नहीं हो सका। इलाके में टैंकर सप्लाई शुरू करवा दी गई है। जिलेभर में शुक्रवार को 1439 टैंकर शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में सप्लाई किए गए।

चुन्नीलाल, अधीक्षण अभियंता, जलदाय विभाग

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Jammu-Kashmir News: शोपियां में फिर आतंकी हमला, CRPF के बंकर पर ग्रेनेड अटैकओडिशा के 10 जिलों में बाढ़ जैसे हालात, ODRAF और NDRF की टीमों को किया गया तैनातकैबिनेट विस्तार के बाद पहली बार नीतीश कैबिनेट की बैठक, इन एजेंडों पर लगी मुहरशिमला में सेवाओं की पहली 'गारंटी' देने पहुंचेगी AAP, भगवंत मान और मनीष सिसोदिया कल हिमाचल प्रदेश के दौरे परममता बनर्जी के ट्विटर प्रोफाइल में गायब जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर, बरसी कांग्रेसमुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, गुजरात के भरूच में पकड़ी ‘नशे’ की फैक्ट्री, 1026 करोड़ के ड्रग्स के साथ 7 गिरफ्तारकेंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह के मानहानि के बयान पर मंत्री जोशी का पलटवार, कहा-दम है तो करें मानहानिभूस्खलन से हिमाचल में 100 से अधिक सड़कें ठप, चार दिन भारी बारिश का अलर्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.