scriptWaiting for the police post in the hospital | Police station: राजस्थान के इस अस्पताल में पुलिस चौकी का इंतजार | Patrika News

Police station: राजस्थान के इस अस्पताल में पुलिस चौकी का इंतजार

मरीजों के उपचार व एमएलसी के समय आती है परेशानी

अस्पताल में हर दिन हो रही है चोरी की घटनाएं

सीकर

Published: May 23, 2022 11:17:21 am

सीकर/नीमकाथाना. सरकार ने राजकीय कपिल अस्पताल को जिला अस्पताल का दर्जा देकर यहां व्यवस्था तो बढ़ा दी, लेकिन कानून व्यवस्था की बात करें तो यहां आए दिन अस्पताल की किरकिरी हो रही है। पुलिस चौकी नहीं होने से अस्पताल में डॉक्टरों व मरीजों को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। सूचना पर अस्पताल में पुलिस के देरी से पहुंचने का खामियाजा अस्पताल प्रशासन व मरीजों को भुगतना पड़ता है। यहां नीमकाथाना उपखंड के अलावा झुंझुनूं जिले के दर्जनों गांवों के घायलों व मरीजों को अस्पताल में भर्ती करवाया जाता है। किसी दुर्घटना अपराधिक वारदातों से पीड़ित के उपचार के लिए अस्पताल में चिकित्सक को पुलिस का इंतजार करना पड़ता है। अस्पताल प्रशासन की सूचना के बाद संबंधित थाने की पुलिस अस्पताल में पहुंचती है। पुलिस के देरी से पहुंचने पर कई बार इस स्थिति खराब हो जाती है। पास से गुजर रही दिल्ली हाईवे या इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्र में आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं। घायलों को कपिल अस्पताल में लाया जाता है, लेकिन कुछ घटनाएं ऐसी होती है कि पुलिस को अस्पताल में पहुंचकर मरीज के बयान लेने जरूरी होते हैं। इसको देखते हुए अस्पताल प्रशासन व शहरवासियों ने जिम्मेदारों तक चौकी स्थापित करने की कई बार मांग पहुंचाई, लेकिन इस मांग पर अभी तक कोई अमल नहीं हो पाया।

Police station: राजस्थान के इस अस्पताल में  पुलिस चौकी का इंतजार
Police station: राजस्थान के इस अस्पताल में पुलिस चौकी का इंतजार

अस्पताल में लगातार हो रही चोरियां

राजकीय कपिल जिला अस्पताल में पिछले लम्बे समय से चोरों का गिरोह व जेब कतरे भी अस्पताल में सक्रिय हो रहे हैं। आए दिन आउटडोर के समय तो जेब काटने की घटनाएं रोजमर्रा की बात हो रही है। यहां तक कि वार्ड में रात के समय मरीजों के परिजनों की जेब से चोर मोबाइल व पैसे चोरी ले जाते हैं। इसके साथ ही अस्पताल परिसर से बाइक भी उठ जाती हैं। हालांकि पार्किंग का ठेका होने से थोड़ा बचाव है, लेकिन कई बार मरीजों के परिजन पार्किंग शुल्क बचाने के लिए बाइक को इधर-उधर खड़ी कर अंदर चले जाते हैं। पीछे से बाइक चोरी हो जाती है।

बनाई थी अस्थाई पुलिस चौकी

कोरोना काल में अस्पताल की व्यवस्था बिगड़े नहीं इसके लिए प्रशासन ने अस्थाई पुलिस चौकी स्थापित की थी, उस समय 24 घंटे अस्पताल में पुलिस के जवान तैनात रहने से खौफ का माहौल था। बदमाश अस्पताल में वारदात करने की तो बड़ी बात अंदर तक प्रवेश नहीं कर पा रहे थे। जैसे ही पुलिस चौकी हटी तो व्यवस्था पहले जैसी हो गई।

अस्पताल में पहले पुलिस चौकी चलती थी। उसको बंद हुए लंबा समय हो गया। कोरोना के समय पुलिस अधिकारियों ने अस्थाई पुलिस चौकी स्थापित की थी। थोड़े दिन बाद उसको हटा दिया गया। जिला अस्पताल का दर्जा मिलने के बाद वर्क लोड ज्यादा हो जाने से लपका गिरोह, चोरियों की घटनाएं व कई बार असामाजिक तत्व डॉक्टरों से उलझने की घटनाओं को देखते हुए पुलिस चौकी होना आवश्यक है।

डॉ जीएस तंवर, पीएमओ राजकीय कपिल जिला अस्पताल, नीमकाथाना

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: शिवसेना में बगावत के बाद अब उपद्रव का डर! पोस्टर वॉर के बीच एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे में धारा 144 लागूAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैकेरल में राहुल गांधी के दफ्तर पर हुए हमले के बाद बड़ी कार्रवाई, DSP निलंबित, ADGP करेंगे मामले की जांच25 जून 1983, 39 साल पहले भारत ने रचा था इतिहास, लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप जीतकर लहराया तिरंगाकौन हैं तपन कुमार डेका, जिन्हें मिली इंटेलिजेंस ब्यूरो की कमानपाकिस्तान की खुली पोल, 26/11 मुंबई हमले का मास्टर माइंड साजिद मीर जिंदा, ISI ने मोस्ट वांटेड आतंकी को बताया था मराMumbai News Live Updates: 'शिवसेना बालासाहेब' नाम से शिंदे खेमे ने बनाया नया समूह, बागी विधायक दीपक केसरकर ने दी जानकारीMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.