इस गांव में पानी के टैंकर को देख दौडऩे की मजबूरी, बूंद-बूंद के लिए लोगों में मच जाती है भगदड़

कुरबड़ा क्षेत्र के अधीन गांव मालनगर में स्थित बलाइयों के मोहल्ले में पेयजल का गंभीर संकट है।

By: vishwanath saini

Published: 23 May 2018, 03:37 PM IST

गणेश्वर. कुरबड़ा क्षेत्र के अधीन गांव मालनगर में स्थित बलाइयों के मोहल्ले में पेयजल का गंभीर संकट है। पिछले दस दिन से लोग रात के समय पानी भर रहे हैं। 200 घरों की बस्ती में 2 सिंगल फेस की ट्यूबवैल लगी है। जिसमे 10 दिन पूर्व एक ट्यूवबैल का कनेक्शन कट गया। इस बारे में पंचायत प्रशासन को समय से अवगत भी करवा दिया गया। लेकिन पंचायत प्रशासन समस्या की ओर ध्यान नहीं दे रहा है। लोगों की मांग है कि पंचायत प्रशासन ट्यूबवैल का बकाया बिल जमा करवाये जिससे पानी का संकट दूर हो सके।


नीर के बिना सूखे हलक महिनों से सूखी पड़ी टंकियां
खाचरियावास. पीने के पानी के लिए सरकार के प्रयास लोगों को राहत नहीं दे रहे हैं। बानगी है कि कस्बे के वार्ड सात महरो की ढाणी में ग्राम पंचायत की ओर से पेयजल के लिए बनाई गई टंकियां सूखी पड़ी है। जलदाय विभाग भी सात दिन केवल दस मिनट के लिए पानी की सप्लाई कर रहा है। जलदाय विभाग भी सात दिन से केवल दस मिनट ही पेयजल आपूर्ति कर रहे हैं। जिससे टंकी भरना तो दूर की बात पीने का पानी भी नसीब नहीं हो रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि इस कारण लगाातार समस्या बढ़ती जा रही है।


टैंकर देखकर दौड़ते है ग्रामीण
भंयकर गर्मी में पीने के पानी की समस्या ने यहां के लोगों को बेहाल कर रखा है। करीब 12 हजार से भी अधिक आबादी व 15 वार्डो के लिए मात्र आठ टैंकर की स्वीकृति दी गई है। पानी का टैंकर नजर आते ही लोगों में भगदड़ मच रही है। लोग सुबह से शाम तक पानी के जुगाड़ में ही लगे रहते है। कई वार्डो में तो पानी भरने को लेकर महिलाएं एक दूसरे से उलझ रही है।


चला. सांसद आदर्श ग्राम में जनप्रतिनिधियों की आपसी खींचतान में लोगों के हलक सूखा दिए हैं। हाल यह है कि यहां पीने के पानी की समस्या को दूर करने के लिए 3.12 करोड़ की योजना शुरू की गई थी लेकिन गर्मी के दिनों में पानी की आपूर्ति मांग के अनुसार नहीं हो रही है। खास बात है कि जलदाय अधिकारी भी जनप्रतिनिधियों की खींचतान के आगे बेबस और लाचार है। इससे ग्रामीण आक्रोशित है।

vishwanath saini Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned