राजस्थान में 48 घंटे बाद 15 जिलों में भारी बारिश होने के आसार, अलर्ट जारी

राजस्थान के ज्यादातर इलाकों में पिछले पांच दिनों से सुस्त पड़ा मानसून फिर चुस्त होने वाला है।

सीकर

Updated: August 02, 2022 11:02:01 am

सीकर. राजस्थान के ज्यादातर इलाकों में पिछले पांच दिनों से सुस्त पड़ा मानसून फिर चुस्त होने वाला है। आगामी 48 घंटे में प्रदेश में फिर भारी बारिश लौटने वाली है। जो गुरुवार को 15 जिलों में हो सकती है। बाकी जिलों में भी इस दौरान हल्की से मध्यम बारिश होगी। इसे लेकर मौसम विज्ञान केंद्र जयपुर ने अलर्ट जारी किया है। मौसम केंद्र के अनुसार दक्षिण से उत्तर की तरफ लौटी मानसून की ट्रफ फिर अपनी जगह लौटने वाली है। जिससे प्रदेश में मानसून फिर सक्रीय होकर पूरे अंचल को जमकर भिगोएगा। केंद्र के अनुसार इससे पहले मंगलवार व बुधवार को भी राजस्थान के कई जिलों में हल्की बारिश का दौर देखने को मिल सकता है।

राजस्थान में 48 घंटे बाद 15 जिलों में होगी भारी बारिश, अलर्ट जारी

आज व कल यहां होगी हल्की बरसात
मौसम विज्ञान केंद्र जयपुर के अनुसार राजस्थान में भारी बारिश से पहले मंगलवार व बुधवार को कुछ इलाकों में हल्की बारिश जारी रहेगी। जो आज पूर्वी राजस्थान के अलवर, भरतपुर, दौसा,धौलपुर, करौली तथा पश्चिमी राजस्थान के जोधपुर व आसपास के क्षेत्रों में देखने को मिल सकती है। वहीं, बुधवार को पूर्वी राजस्थान के अजमेर, अलवर, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौडगढ़,़ दौसा, धौलपुर, जयपुर, झुंझुनूं, करौली, कोटा, सवाई माधोपुर व सीकर तथा पश्चिमी राजस्थान के चूरू, हनुमानगढ़ व नागौर सहित आसपास के क्षेत्रों में होने के आसार हैं।

15 जिलों में होगी भारी बरसात
मौसम विज्ञान केंद्र जयपुर के अनुसार दो दिन की हल्की बारिश के बाद गुरुवार को प्रदेश में भारी बरसात का दौर फिर लौट आएगा। इस दौरान पहले दन पूर्वी राजस्थान के अजमेर, अलवर, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौडगढ़, दौसा, धौलपुर, डूंगरपुर, कोटा, राजसमंद, सवाई माधोपुर, सिरोही, टोंक व उदयपुर में बादलों की गरज व बिजली की चमक के साथ कुछ इलाकों में भारी बरसात हो सकती है। जबकि पूर्वी राजस्थान के जयपुर झुंझुनूं, करौली तथा पश्चिमी राजस्थान के बीकानेर, चूरू, हनुमानगढ़ और नागौर जिलों में इस दौरान बादलों की गरज व बिजली की चमक के साथ हल्की बूंदाबांदी या बौछारें गिर सकती है।

सीकर में जमकर हुई बरसात, सबसे ज्यादा धोद में 42 एमएम गिरा पानी
इससे पहले सीकर जिले में सोमवार को मेघ जमकर मेहरबान हुए। तीन दिन के अंतराल के बाद यहां बादलों ने सुबह 11 बजे से ही बरसना शुरू कर दिया, जो रुक रुककर शाम तक तेज गति से बरसते रहे।इस दौरान सबसे ज्यादा बारिश धोद में 42 एमएम दर्ज हुई है। इसके बाद खंडेला में 25, नेछवा में 14, सीकर शहर में 11, रामगढ़ शेखावाटी में 6, फतेहपुर व दांतारामगढ़ में 5- 5 तथा श्रीमाधोपुर में 1 एमएम दर्ज हुई। केवल नीमकाथाना व पाटन इलाके ही बरसात से महरूम रहे। बरसात से कई निचले इलाकों में पानी भी भर गया। जिससे स्थानीय लोगों के साथ राहगिरों की परेशानी बढ़ गई।

होम /सीकर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Follow Us

Download Partika Apps

Group Sites

Trending Stories

Monsoon : राजस्थान में 3 अगस्त से बारिश का नया सिस्टम, पूरे प्रदेश में होगी झमाझमNSA डोभाल की मौजूदगी में बोले मुस्लिम धर्मगुरु- 'सर तन से जुदा' हमारा नारा नहीं, PFI पर प्रतिबंध की बनी सहमतिकीमत 4.63 लाख रुपये से शुरू और देती हैं 26Km का माइलेज! बड़ी फैमिली के परफेक्ट हैं ये सस्ती 7-सीटर MPV कारेंराजस्थान में भारी बारिश का दौर जारी, स्कूलों की तीन दिन की छुट्टी, आज इन जिलों में झमाझम की चेतावनीWeather Update: राजस्थान में झमाझम बारिश को लेकर अब आई ये खबरराजस्थान में आज यहां होगी बारिश, एक सप्ताह तक के लिए बदलेगा मौसमएमपी में 220 करोड़ से बनेगा 62 किमी लंबा बायपास, कम हो जाएगी कई शहरों की दूरी, जारी हो गए टेंडरसरकारी नौकरी लगवा देंगे कहकर 10 युवाओं को लगाई 75 लाख रुपए की चपत, 2 गिरफ्तार

बड़ी खबरें

ताइवान यात्रा के बाद चीन ने नैंसी पेलोसी पर लगाया प्रतिबंध, भारत ने कहा- लद्दाख सीमा से दूर रहे चीनी फाइटर जेटMaharashtra Panchayat Election Results 2022: महाराष्ट्र पंचायत चुनाव में शिंदे खेमे ने दिखाया दम, बीजेपी-उद्धव गुट समेत अन्य दलों के ऐसे रहें नतीजेCongress Protest: काले कपड़ों में संसद तक पहुंचे कांग्रेस सांसद, विजय चौक पहुंचने से पहले हिरासत में राहुल गांधीबाला साहेब हमेशा कहते थे, रोओ मत, सही के लिए लड़ो... ED की कस्टडी से संजय राउत ने विपक्ष को लिखी चिट्ठीMaharashtra Politics: महाराष्ट्र में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर बड़ी जानकारी आई सामने, उज्ज्वल निकम से मिले CM शिंदेदिल्लीवालों पर महंगाई की एक और मार, PNG के दामों में हुआ 2.63 रुपए प्रति यूनिट का इजाफाबीज का लक्ष्य है पेड़ बन जाना, हमें भी लक्ष्य तय करना चाहिए, 'गीताविज्ञान' पर डॉ. गुलाब कोठारी का संवादगले में सब्जियों की माला पहन सोनिया गांधी संग मुस्कुराती दिखीं कांग्रेस सांसद, यूजरों ने किया ट्रोल, बोले- सब ड्रामा है
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.