चार्जशीट थमाई तो सीएमएचओ ने उलटे संभागीय आयुक्त पर उठा दिए सवाल, बताया पूर्वाग्रह से ग्रसित

जिले के सरकारी महकमों की पड़ताल करने पहुंचे संभागीय आयुक्त ने शुक्रवार को सीएमचओ डा. अजय चौधरी व महिला एवं बाल विकास विभाग की उपनिदेशक सुमन पारीक को आड़े हाथ ले लिया।

By: Sachin

Published: 05 Feb 2021, 11:28 PM IST

सीकर. जिले के सरकारी महकमों की पड़ताल करने पहुंचे संभागीय आयुक्त ने शुक्रवार को सीएमचओ डा. अजय चौधरी व महिला एवं बाल विकास विभाग की उपनिदेशक सुमन पारीक को आड़े हाथ ले लिया। सीएमएचओ के कोरोना योद्धा सम्मान समारोह को कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन बताते हुए आयुक्त ने सीएमचओ डा. चौधरी तो आंगनबाड़ी केंद्रों की अव्यवस्थाओं को लेकर आईसीडीएस उप निदेशक पारीक को जवाब तलब किया। संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर कलक्टर अविचल चतुर्वेदी को दोनों को चार्जशीट थमाने का निर्देश भी दिया। इधर, चार्जशीट की कार्रवाई के बाद सीएमएचओ ने भी संभागीय आयुक्त के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। आयुक्त की कार्रवाई को पूर्वाग्रह से ग्रसित बताते हुए उन्होंने उलटे संभागीय आयुक्त की बैठक में ही सोशल डिस्टेंसिंग नहीं होने का मुद्दा उठा दिया। कार्रवाई को चिकित्सकों का मनोबल गिराने वाली बताते हुए प्रदेश के चिकित्सकों द्वारा इसका जवाब दिए जाने की बात भी सोशल मीडिया पर कही है।

सीएमएचओ साहब.... कैसे तोड़ी गाइडलाइन
संभागीय आयुक्त ने सीएमएचओ डॉ. अजय चौधरी से सवाल कि आपने 31 दिसम्बर को गृह विभाग की ओर से जारी गाइडलाइन को ताक पर रख दिया। एक निजी होटल में 200 से ज्यादा लोगों के कार्यक्रम में आपने भाषण दिया। इस कार्यक्रम के फोटो और वीडियो मेरे पास है...आप चाहे तो...। इस पर सीएमएचओ बोले कि कोरोना योद्धाओं ने काफी अच्छा काम किया था। इसलिए उनके सम्मान के लिए चला गया था। डीसी ने कहा कि आप को तो खुद कोरोना गाइडलाइन की पालना करानी जिम्मेदारी है। आप ही ऐसे करेंगे तो फिर....। इस बीच जिला कलक्टर ने कहा कि प्रशासन इस मामले में नोटिस जारी कर चुका है। इस पर डीसी ने कलक्टर को सीएमएचओ को चार्जशीट देने के निर्देश दिए।


घटिया पोषाहार...आपने कभी निरीक्षण भी किया है क्या
संभागीय आयुक्त डॉ. समित कुमार ने महिला एवं बाल विकास विभाग की डीडी सुमन पारीक की जमकर क्लास ली। डीसी ने कहा कि रास्ते में एक आंगनबाड़ी केन्द्र का निरीक्षण किया था। यहां घटिया पोषाहार था। कोई आपको ऐसा खाना दें तो...। कभी आपने निरीक्षण भी किया हैं क्या...। इस पर डीडी बोली कि आज ही गोकुलपुरा का सेंटर देखा है। इस पर डीसी ने कहा कि यदि निरीक्षण किए होते तो आज यह हालत नहीं बनते। डीसी ने जब डीडी से पूछा कि आपके यहां किराए के भवनों में कितने सेंटर संचालित है तो वह जवाब नहीं दे सकी। इस पर डीसी ने कलक्टर को नोटिस के आदेश दिए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned