मीलों दूर से चलकर आए भूख से बिलबिलाते मजदूर

मजदूरों का एक जिले से दूसरे जिले में पलायन जारी है।

By: Gaurav

Published: 18 Apr 2020, 06:50 PM IST

सीकर . मजदूरों का एक जिले से दूसरे जिले में पलायन जारी है। वह भी इस तरह की कड़ी धूप में मीलों पैदल चलना उपर से भूखा भी रहना। सैकड़ों हजारों की संख्या में इधर-उधर फैले इन मजदूरों के लिए प्रशासन के पास न तो कोई योजना है ओर न ही प्रबंधन। शुक्रवार को पण्डोली से एमपी भैंरूघाट के लिए महिला, पुरुष, बच्चे कुल 63 मजदूर पैदल ही चलकर रानोली तक पहुंच गए। जिसमें 25 महिला, 11 छोटे बच्चे, 27 पुरुष शामिल है। इन लोगों को कही पर भी किसी भी अधिकारी ने नहीं रोका। तथा कहीं पर भी इनकी जांच तक नहीं की गई। ये मजदूर 2 महीने पहले पण्डोली में मजदूरी करने के लिए आए थे। सभी मजदूरों ने आने के बाद 1 महीने तक मजदूरी की। उसके बाद से सभी ठाले बैठे थे। रुपए पैसे खत्म होने पर ये लोग पैदल ही एमपी के लिए रवाना हो गए। अब इन्हें रानोली में क्वारंटाइन किया गया है। वहीं पर सभी को खाना खिलाया गया।
इधर, दूसरी घटना में दो दिन पहले बठौठ इलाके से पैदल रवाना हुए श्रमिक कई थाना क्षेत्रों से गुजरते हुए जयपुर जिले की सीमा में घुस गए। यहां जयपुर पुलिस ने मजदूर को रोक तो दिया लेकिन संसाधन का टोटा होने की वजह से श्रमिक परिवारों की मुसीबत बढ़ गई। यहां जयपुर पुलिस ने 82 मजदूरों को एक ट्रक में बैठाकर श्रीमाधोपुर इलाके में जंगल में छोड़ दिया।

Gaurav Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned