गांव में कोरोना से संक्रमित 5 मरीज मिले तो बन जाएगा कंटेनमेंट जोन

कलेक्टर ने जारी किया निर्देश, अब ग्रामीण अंचल पर ज्यादा जोर .....

By: Ajeet shukla

Published: 12 May 2021, 10:27 AM IST

सिंगरौली. ग्रामीण अंचल में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर जिला प्रशासन चौकन्ना हो गया है। यही वजह है कि एक साथ कोरोना संक्रमण की चेन तोडऩे के बावत कई निर्देश जारी किए गए हैं। कलेक्टर राजीव रंजन मीना ने एक ओर जहां स्थानीय स्तर पर आपदा प्रबंध समिति की बैठक बुलाने का निर्देश दिया है। वहीं दूसरी ओर गांवों में कंटेनमेंट जोन बनाने और क्वारंटीन सेंटर शुरू करने को कहा है।

कलेक्टर ने संबंधित क्षेत्र के उपखंड अधिकारियों को संक्रमण को रोकने और अन्य व्यवस्थाओं के लिए अधिकार प्रदान किए गए हैं। वीडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्यम से कलेक्टर ने सभी उपखंड अधिकारियों व स्वास्थ्य महकमे के साथ जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देशित किया है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए उन गांवों को कंटेनमेंट जोन बनाया जाए, जहां 5 या इससे अधिकरी कोरोना से संक्रमित मरीज मिलते हैं। ग्राम पंचायतों में आइसोलेशन बेड की व्यवस्था के साथ बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया जाए।

उन्होंने कहा कि अपने उपखंड स्तनर पर आपदा प्रबंधन समितियों का गठन कर तत्काल संक्रमण को रोकने के लिए उचित निर्णय लें। राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों, जिला पंचायत के सदस्यों, सरपंच, पंच व समाजसेवी व्यक्ति की मदद लें। साथ ही प्रत्येक पंचायतों में संक्रमण को रोकने के लिए मुनादी कराई जाए। बाहर से आने वाले व्यक्तियों को पंचायतों में तैयार किए गए आइसोलेशन केंद्रों में रखा जाए। प्रत्येेक केंद्रों में पेयजल, विद्युत, भोजन व बेड की व्यरवस्था कराई जाए।

कलेक्टर ने कहा कि सर्वेक्षण दल घर-घर जाकर सर्दी, जुकाम, खांसी व बुखार से पीडि़त लोगों को दवाई का किट वितरण करें और प्रतिदिवस की रिपोर्टिंग निर्धारित प्रपत्र में तैयार करें। गठित टीम के साथ सुपरविजन के लिए संबंधित मतदान केंद्रों के बीएलओ की भी ड्यूटी लगाई जाए। बैठक के दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी साकेत मालवीय सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned