धनतेरस के दिन हुआ बड़ा हादसा, मौत के बाद देर रात हंगामा

स्थानीय लोगों में भारी आक्रोश, मौके पर पुलिस ने संभाला मोर्चा

By: Hitendra Sharma

Published: 13 Nov 2020, 08:02 AM IST

सिंगरौली. जिला मुख्यालय के समीपस्थ कचनी मुख्य बस्ती के मौहरिया टोला में सीवरेज का गड्ढे में काम करते समय मलबा गिरने से एक श्रमिक की मौत हो गई। घटना के बाद कचनी में तनाव के हालात उत्पन्न हो गए हैं। हालात बिगड़ते देख भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर गई है। सीवरेज का कार्य के के स्पंज नाम की कंपनी कर रही है। करीब दो साल से अधिक समय से केके स्पंज कंपनी नगर पालिक निगम के बैढऩ जोन में अमृत जल योजना के सीवरेज का काम कर रही है।

गुरूवार की देर शाम यह घटना हुई। प्रत्यक्ष दर्शियों के मुताबिक कचनी के मौहरिया टोला में सीवरेज पाइप लाइन का कार्य एक श्रमिक करीब 15 फीट गहरे में जाकर कर रहा था। इसी दौरान मिट्टी का मलबा उसके ऊपर धसक गया। कुछ दूरी पर दूसरा श्रमिक भी मौजूद था। वहीं उस नजारे को देख गड्ढे के अंदर से ही मिट्टी के ढेर में दबे श्रमिक को बचाने के लिए गुहार लगाने लगा। उसने देखा कि वहां श्रमिक मिट्टी के ढेर के नीचे दब गया है। कंपनी के अन्य कर्मचारी भी घटना स्थल से भागे।

बताया जा रहा है कि श्रमिक सुधीर शर्मा पिता खिरोधन शर्मा उम्र 20 वर्ष निवासी भटवा बिलौजी की मलवा के नीचे दबने से उसकी मौत हो जाने की खबर सुनकर घटना स्थल पर सैकड़ों की संख्या में लोग एकत्रित होकर हंगामा करने लगे। आक्रोशित लोगों ने वहां कचनी मार्ग पर जाम कर दिया।

हादसे की सूचना पर मौके पर एसडीएम, तहसीलदार, कोतवाली टीआइ, नवानगर टीआइ, विंध्यनगर टीआइ, सूबेदार आशीष तिवारी भारी संख्या में पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। घटना स्थल पर पहुंची पुलिस ने लोगों को समझाइस देकर मामले को शांत कराया। वहीं स्थानीय लोग मृतक के परिजन को एक करोड़ सहायता राशि व ननि में नौकरी देने की मांग पर अड़े हुए हैं।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned