अंधी हत्या का खुलासा : महिला को अपने रास्ते से हटाने के लिए युवक ने साथियों के साथ मिलकर किया था हत्या, जानिए क्या है मामला

कोतवाली पुलिस को मिली बड़ी सफलता, आरोपियों को भेजा जेल.....

By: Amit Pandey

Published: 23 May 2020, 08:34 PM IST

सिंगरौली. कोतवाली पुलिस ने अंधी हत्या का खुलासा करते हुए बड़ी सफलता हांसिल किया है। आरोपी ने महिला को अपने रास्ते से हटाने के लिए हत्या की योजना बनाई और अपने साथियों के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दिया। इस मामले में कोतवाली पुलिस ने एक आरोपी सहित तीन बाल अपचारी को गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के मुताबिक बाल अपचारी परिवर्तित नाम निर्भय जायसवाल के साथ मृतिका गिरजामती उर्फ सपना जायसवाल का प्रेम संबंध हो गया था। धीरे-धीेरे करके देानों का प्रेम प्रसंग गहरा हो गया और मृतिका ने निर्भय जायसवाल के साथ रहने का मन बना ली। उससे शादी करने की बात कही। लेकिन प्रेमी निर्भय ने शादी करने से इंकार कर दिया।

यह बात मृतिका को नागवार गुजरी और अपने प्रेमी को दुष्कर्म जैसे गंभीर अपराध में फंसाने की धमकी देने लगी। निर्भय अपने दोस्तों के साथ मिलकर प्रेमिका गिरजामती उर्फ सपना को अपने रास्ते से हटाने की योजना तैयार किया। फिर उसे पार्टी के बहाने २९ जून की रात एनसीएल बाउंड्री में लेकर गया। जहां आरोपी धीरेन्द्र सेन पिता रामलाल सेन सहित उसके साथी तीन बाल अपचारी मिलकर महिला की हत्या कर दिया और सबूत मिटाने के लिए महिला की लाश को वहीं जमीन में दफना दिया। घटना के बाद अधिक समय बीत जाने से महिला का कंकाल बरामद नहीं हो सका है। हलांकि जेसीबी से खुदाई के दौरान उसके कपड़े और चप्पल बरामद कर लिया है।

यह था पूरा मामला
सूचनाकर्ता सुनील जायसवाल पिता जागबली जायसवाल ने 3 जुलाई 2019 को कोतवाली थाने में सूचना दिया था कि इसकी पत्नी गिरजामती उर्फ सपना जायसवाल 29 जून 2019 को पांच वर्षीय मासूम बच्चे रिश्ते की बुआ के घर छोड़कर देर शाम कहीं चली गई। सूचना पर कोतवाली पुलिस ने गुम इंशान दर्ज कर तलाश में जुटी थी। इसके बाद मुखबिरों से मिली सूचना के आधार पर कोतवाली पुलिस ने महिला की हत्या करने वाला आरोपी व मीन अपचारी को गिरफ्तार कर लिया है।

शातिराना अंदाज में किया था हत्या
एसपी टीके विद्यार्थी व एएसपी प्रदीप शेंडे के निर्देश पर सीएसपी देवेश पाठक के मार्गदर्शन में कोतवाल अरुण पाण्डेय के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम में एसआई रामजी शर्मा, मुकेश झारिया, एएसआई संपत्ति तिवारी, प्रधान आरक्षक अरविंद द्विवेदी, पिन्टू राय, डीएन सिंह ने अंधी हत्या का खुलासा किया है। हत्या की वारदात को शातिराना अंदाज में अंजाम दिया था लेकिन कोतवाल ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए घटना को अंजाम देने वाले तीन बाल अपचारी व एक आरोपी को दबोच लिया है। आरोपी को न्यायालय पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है।

Amit Pandey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned