तय है जिले में आई गांजा की बड़ी खेप, गढ़वा पुलिस ने 9 किलो गांजा के साथ दो को पकड़ा

पहले बरगवां, फिर माड़ा और अब गढ़वा में पकड़ाए तस्कर.....

By: Amit Pandey

Published: 02 Aug 2020, 08:09 PM IST

सिंगरौली. जिले में गांजा की बड़ी खेप आई है। पहले बरगवां फिर माड़ा और अब गढ़वा पुलिस ने ९ किलो गांजा की बड़ी खेप के साथ दो तस्करों को पकड़ा है। आरोपियों के कब्जे से बाइक सहित मादक पदार्थ गांजा जब्त करते हुए एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई किया है। जानकारी के मुताबिक आरोपी ब्रजभूषण पाण्डेय पिता पशुपति पाण्डेय निवासी कुल्हुईया व राजधारी सिंह पिता शत्रुधन सिंह निवासी लोहदा शुक्रवार की शाम उत्तरप्रदेश सोनभद्र के घोरावल से गांजा की बड़ी खेप लेकर गढ़वा थाना क्षेत्र में प्रेवश कर रहे थे।

इस दौरान मुखबिर की सूचना पर पहुंची पुलिस ने झरकटा बैरियल के पास बाइक पर सवार दोनों आरोपियों को दबोच लिया। मौके से पुलिस ने नौ किलो गांजा जब्त करते हुए दोनो तस्करों को थाने ले गई। जहां पूछताछ करने पर तस्करों ने उत्तरप्रदेश से गांजा की खेप लाकर जिले में बिक्री करना बताया। आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई कर उन्हें न्यायालय पेश करने के बाद आरोपियों को जेल भेज दिया है। एसपी वीरेन्द्र सिंह के निर्देशन व एसडीओपी नीरज नामदेव के मार्गदर्शन में गढ़वा टीआई संतोष तिवारी के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम ने कार्रवाई को अंजाम दिया है।

यूपी घोरावल से आ रही थी खेप
गढ़वा टीआई संतोष तिवारी को मुखबिरों ने सूचना दिया कि उत्तरप्रदेश घोरावल से चितावल नौडिहवा की तरफ गांजा की खेप लेकर बाइक क्रमांक एमपी ५३ एमसी २४०२ से आ रहे हैं। सूचना के तत्काल बाद टीआई ने दबिश देने के लिए मौके पर पुलिस टीम रवाना कर दिया। जहां घेराबंदी कर पुलिस टीम ने दो तस्करों को दबोच लिया। वहीं कब्जे से नौ किलो गांजा समेत बाइक पुलिस ने जब्त कर लिया है।

पुलिस को थी तलाश
बताया गया है कि आरोपियों के गांजा बिक्री करने की शिकायत पुलिस को लगातार मिल रही थी। इसके बाद गढ़वा पुलिस सक्रिय हुई और तस्करों को पकडऩे के लिए मुखबिरों को अलर्ट कर दिया। पुलिस को आरोपियों की तलाश थी लेकिन तस्कर शतिराना अंदाज में गांजा की तस्करी करते थे। हुआ यूंकि शुक्रवार की देर शाम मुखबिरों ने सूचना दिया और पुलिस ने दबिश देकर उन्हें दबोच लिया।

लंबे समय से कर रहे थे तस्करी
पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने गांजा बिक्री का कारोबार लंबे समय से करना बताया। पुलिस की नजरों से ओझल होकर कारोबार को अंजाम देते रहे। मगर, टीआई संतोष तिवारी की नजरों से ओझल नहीं हो सके। टीम में एसआई गोकुलानंद पाण्डेय, आरक्षक अरविंद यादव, सुदर्शन चौहान, अनुराग मिश्रा, अजय कुशवाहा, भैयालाल यादव व वेद प्रकाश शुक्ला ने आरोपियों को दबोच लिया है।

Amit Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned