scriptAll doctors went to health fair, patients were troubled in hospital | स्वास्थ्य मेला में गए सभी मुख्य चिकित्सक, अस्पताल में परेशान हुए मरीज | Patrika News

स्वास्थ्य मेला में गए सभी मुख्य चिकित्सक, अस्पताल में परेशान हुए मरीज

जिला अस्पताल का हाल, ओपीडी में मरीजों की पहुंची भीड़ तो व्यवस्था बनाने बुलाए गए इमरजेंसी ड्यूटी के चिकित्सक ...

सिंगरौली

Published: April 22, 2022 11:49:07 pm

सिंगरौली. हर रोज की तरह शुक्रवार को भी जिला अस्पताल की ओपीडी में मरीज पहुंचे। जहां देखे तो चिकित्सकों का चेंबर खाली था। मरीज बाहर कुर्सी पर बैठकर इंतजार कर रहे थे। परिसर में उनके परिजन इधर-उधर भटक रहे थे। उन्हें उम्मीद था कि चिकित्सक ओपीडी में आएंगे लेकिन मरीजों की उम्मीदों पर पानी तब फिर जब चिकित्सकों की ड्यूटी चितरंगी स्वास्थ्य मेला में लगाए जाने की जानकारी हुई।
All doctors went to health fair, patients were troubled in hospital
All doctors went to health fair, patients were troubled in hospital
ओपीडी में केवल दो चिकित्सक मरीजों को देख रहे थे। अचानक से पहुंची मरीजों की भीड़ को देखकर अस्पताल प्रबंधन व्यवस्था बनाने में जुट गए। शुक्रवार को इमरजेंसी में ड्यूटी करने वाले चिकित्सकों को भी उन्होंने ओपीडी में बुला लिया। इसके बाद मरीजों को उपचार मुहैया हुआ है। मौसम पूरे तेवर में है। शहर सहित ग्रामीण अंचल में लोग बीमार पड़ रहे हैं।
आलम यह है कि जिला अस्पताल की ओपीडी में हर रोज करीब पांच सौ से अधिक मरीजों की संख्या पहुंच रही है। इसमें ज्यादातर मरीज देहात से पहुंच रहेे हैं। ऐसे वक्त पर यदि जिला अस्पताल ट्रामा सेंटर में चिकित्सक न मिले तो दूरी तय कर अस्पताल पहुंचे मरीजों को निराश होना पड़ता है। कुछ ऐसा ही हाल शुक्रवार को जिला अस्पताल में देखने मिला है। यह बात और है कि मरीजों को परेशान देखकर प्रबंधन ने आनन-फानन में उन चिकित्सकों को भी बुला लिया। जिनकी ड्यूटी इममरजेंसी में लगी थी।
ओपीडी में लगती है लंबी लाइन
दिन का तापमान लगातार बढऩे के साथ ही अस्पताल में भी मरीजों की संख्या बढ़ रही है। जिला अस्पताल के ओपीडी में पांच सौ मरीज प्रतिदिन पहुंच रहे है। इन मरीजों में 25 फीसदी लू लगने के मरीज है। वहीं डायरिया, पेट दर्द, दस्त, बुखार के मरीज भी पहुंच रहे हैं। वार्डों में ज्यादातर गंभीर मरीज भर्ती है। चिकित्सक भी लोगों को गर्मी से बचाव की सलाह दे रहे हैं।
यह चिकित्सक कर रहे थे ड्यूटी
जिला अस्पताल ट्रामा सेंटर में शुुक्रवार को डॉ. अश्वनी पाण्डेय, डॉ. संदीप भगत शिशु रोग विशेषज्ञ ओपीडी में ड्यूटी कर रहे थे। मरीजों को संख्या बढऩे पर अस्पताल प्रबंधन ने डॉ. संतोष कुमार व एक महिला चिकित्सक को व्यवस्था बढ़ाने के लिए बुला लिया। इसके बाद बारी-बारी से मरीजों को ओपीडी में चिकित्सकों ने देखा।
एक बड़ी समस्या यह भी
जिला अस्पताल में ओपीडी का समय सुबह 9 से शाम 4 बजे तक निर्धारित किया गया है। बीच में डॉक्टरों के लिए लंच टाइम भी रखा गया है लेकिन देखने में आ रहा है कि एक ओर सुबह 9.30 बजे के पहले डॉक्टर अपने कक्ष में नहीं आते यही नहीं कुछ अन्य स्टॉफ भी समय में अस्पताल नहीं पहुंचता है। वहीं लंच टाइम के बाद अधिकांश डॉक्टर अस्पताल में नहीं मिलते।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

DGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थाकर्नाटक के सबसे अमीर नेता कांग्रेस के यूसुफ शरीफ और आनंदहास ग्रुप के होटलों पर IT का छापाPM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहापंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंई-कॉमर्स साइटों के फेक रिव्यू पर लगेगी लगाम, जांच करने के लिए सरकार तैयार करेगी प्लेटफॉर्मMenstrual Hygiene Day 2022: दुनिया के वो देश जिन्होंने पेड पीरियड लीव को दी मंजूरी'साउथ फिल्मों ने मुझे बुरी हिंदी फिल्मों से बचाया' ये क्या बोल गए सोनू सूदभाजपा प्रदेश अध्यक्ष का हेमंत सरकार पर बड़ा हमला, कहा - 'जब तक सत्ता से बाहर नहीं करेंगे, तब तक चैन से नहीं सोएंगे'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.