धान के बाद अब रबी की फसलों से भरेगा किसानों का भंडार

Vedmani Dwivedi

Publish: Jan, 14 2018 08:18:00 AM (IST)

Singrauli, Madhya Pradesh, India
धान के बाद अब रबी की फसलों से भरेगा किसानों का भंडार

कृषि विभाग के आंकड़े बयां कर रहे, रबी की बुआई का लक्ष्य पूरा, 1.80 लाख हेक्टेयर में हुई बोआई

सिंगरौली. इस बार जिले में धान का रिकार्ड तोड़ उत्पादन होने से विभाग भी खुश है। दूसरी ओर किसान भी खुश हैं। अब विभाग और किसानों की निगाह रबी की फसलों पर टिकी हैं। कृषि विभाग के आंकड़े तो कुछ इसी तरह दर्शा रहे हैं। विभाग के अधिकारी बेहतर उत्पादन की उम्मीद लगाये बैठे हैं। अधिकारियों की मानें तो 1.60 लाख हेक्टेयर में रबी की फसलों की बुआई हो चुकी है, जबकि बोआई का लक्ष्य 1.80 लाख हेक्टेयर तय किया गया था।

इस बार अच्छी होगी पैदावार
तीन साल पहले ओलावृष्टि के चलते रबी की फसलें प्रभावित हुई थीं। मगर, बीते साल अच्छी पैदावार हुई थी। इधर, लगातार बोआई का रकबा बढ़ाए जाने से उत्पादन भी बढ़ रहा है। इस बार रबी के सीजन में बोआई का लक्ष्य लगभग पूरा कर लिया गया है। ज्यादा रकबा में बोआई होने से बेहतर उत्पादन की आस बनी है। इस साल अच्छी पैदावार होने के आसार हैं,क्योंकि बीते साल से बोआई का रकबा लगभग १० प्रतिशत बढ़ा है। हालांकि बोआई का तय लक्ष्य दिसम्बर के अंत तक पूरा हो चुका है। विभाग की मानें तो गेहू, चना, अरहर, सरसों आदि की फसलें अभी अच्छी हैं। रबी की बोआई नवम्बर से ही शुरू हो जाती है,जो जनवरी के प्रथम सप्ताह तक चलती है।

स्प्रिंकलर विधि से करें सिंचाई
उपसंचालक कृषि आशीष पाण्डेय ने बताया कि उन्नत किस्म के बीज किसानों को उपलब्ध कराये जा रहे हैं। ये ऐसे बीज हैं, जिन्हें कम पानी की जरूरत होती है। इसी के साथ ही बोआई का रकबा भी हर साल बढ़ रहा है। इसीलिए उत्पादन और उत्पादकता पर असर पड़ रहा है।

 

सर्वाधिक क्षेत्र में गेहूं की बुआई

फसल रकबा (हेक्टेयर में)
गेहूं 39 हजार
चना 28 हजार
अरहर 50 हजार
मसूर आठ हजार
राई/सरसों 20 हजार
मक्का 11 हजार

रबी सीजन में बोआई का प्रस्तावित लक्ष्य 1.80 हेक्टेयर था। जिसमें 1.60 लाख हेक्टेयर रकबा में बोआई हो चुकी है। इस तरह से लक्ष्य से थोड़ी कम बोआई हुई है। अगर, बेमौसत बारिश और ओलावृटि नहीं हुई तो उत्पादन अच्छा होगा।
-आशीष पाण्डेय, उपसंचालक कृषि

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned