विस्तार की ओर कदम : 40 हजार टन तक पहुंचेगी अनाज भंडारण क्षमता

नए गोदाम निर्माण कार्य तियरा से शुरु....

By: Amit Pandey

Published: 10 May 2020, 03:43 PM IST

सिंगरौली. जिले में सरकारी क्षेत्र में अनाज भंडारण की कम क्षमता का संकट जल्द कम होने जा रहा है। इसके तहत नए 23 गोदाम में से अधिकतर का निर्माण कार्य शुरू हो गया है। टेंडर शर्त के अनुसार इनका निर्माण तीन माह में पूरा हो जाएगा। इसके बाद जिले मेें शासकीय क्षेत्र में अनाज भंडारण की क्षमता 40 हजार टन तक पहुंच जाएगी। अभी यह क्षमता मात्र 10 हजार टन ही सिमटी है। एेसे ही एक गोदाम का निर्माण हाल में तियरा में शुरु हुआ। इसकी क्षमता दो हजार मीट्रिक टन की रहेगी। इसका विधायक रामलल्लू वैस ने शिलान्यास किया। इस गोदाम के निर्माण पर एक करोड़ 75 लाख रुपए लागत आएगी। सहकारिता विभाग के निर्देशन में इन गोदाम का निर्माण कराया जा रहा है।

जिले के ग्रामीण क्षेत्र में 23 जगह एेसे लगभग इसी क्षमता के गोदाम का निर्माण पूरा होने से रबी व खरीफ सीजन में होने वाली अनाज की सरकारी खरीद के बाद इसके भंडारण को लेकर जिला प्रशासन सहित सहकारिता व आपूर्ति विभाग को राहत मिल सकेगी। अभी जिले में शासकीय क्षेत्र में अनाज भंडारण की क्षमता बेहद कम है। इस कारण फसल के हर सीजन में खरीदे जाने वाले अनाज के भंडारण को लेकर असमजंस जैसी स्थिति रहती है। इसके लिए निजी गोदामों पर निर्भर रहना पड़ता है तथा शासन को लंबे समय तक उनका किराया भी देना पड़ता है।

इससे निजात पाने के लिए जिले में डीएमएफ मद से तियरा जैसे 23 गोदाम का निर्माण कराया जा रहा है।यहां बनेेंगे गोदामगांव तियरा सहित परसोना, खुटार, कर्सुआ राजा, माड़ा, सखोहा, कोयल खूंथ, बिंदूल, बरगवां, इटार, सरई, महुआ गांव, बरका, मझौली, जमगड़ी, चतरी, दुधमनिया, चितरंगी, पराई, घोघरा, रामगढ़, कुसाही व गढ़वा में भी एेसे ही गोदाम का निर्माण कार्य होगा। इनमें से एक को छोड़ शेष सभी दो हजार टन क्षमता के गोदाम होंगे।

Amit Pandey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned