scriptClasses not running in school located in DEO office prem | कलेक्टर साहब! डीइओ कार्यालय परिसर में स्थित स्कूल में ही नहीं चल रही कक्षाएं | Patrika News

कलेक्टर साहब! डीइओ कार्यालय परिसर में स्थित स्कूल में ही नहीं चल रही कक्षाएं

प्राचार्य बोले, छात्र नहीं आते, डीइओ बोले चलती हैं कक्षा ....

सिंगरौली

Published: April 23, 2022 12:03:00 am

सिंगरौली. शासन स्तर से शासकीय स्कूलों में कक्षा 11 वीं की कक्षाएं संचालित करने का भले ही निर्देश जारी हो, लेकिन यहां जिले में स्थिति विपरीत है। गांवों में संचालित स्कूलों की बात तो दूर जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय परिसर में स्थित स्कूल में ही कक्षाएं संचालित नहीं हो रही हैं।
Collector sir! Classes not running in school located in DEO office premises
Collector sir! Classes not running in school located in DEO office premises
इस मामले में जहां प्राचार्य की दलील है कि छात्र आते ही नहीं। वहीं डीइओ कक्षा संचालित नहीं होने से अज्ञानता जाहिर कर रहे हैं। स्कूलों में पढ़ाई की स्थिति का जायजा लेने पत्रिका टीम की ओर से की गई पड़ताल में शुक्रवार को सुबह 11 बजे शासकीय (बालक) उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बैढऩ की सभी कक्षाओं में तालाबंद मिला।
प्राचार्य से जब कक्षा 11 वीं के संचालन के संबंध में पूछा गया तो जवाब मिला कि बच्चे आते ही नहीं। प्राचार्य ने बताया कि उनके स्कूल में ज्यादातर बच्चे छात्रावास के हैं। छात्रावास से बच्चे घर चले गए हैं। इससे कक्षाओं का संचालन नहीं हो पा रहा है। जिला मुख्यालय में कलेक्ट्रेट के ठीक बगल में स्थित स्कूल का जब यह हाल है तो ग्रामीण अंचल के स्कूलों की स्थिति का अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है।
आंगनबाड़ी में भी नहीं आते बच्चे
स्कूलों जैसा ही हाल आंगनबाड़ी केंद्रों का है। केंद्रों में एक ओर जहां बच्चे नहीं आते हैं। वहीं दूसरी ओर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका समय से पहले ही ताला बंद कर नदारद हो जाती है। कलेक्ट्रेट से चंद कदम की दूरी पर स्थित आंगनबाड़ी केंद्र माजनखुर्द में सुबह 11 बजे ही ताला लटकता मिला। बताया गया कि जब बच्चे आते ही नहीं तो बैठ कर क्या करेंगे। कुछ ऐसा ही हाल शहर व गांव के ज्यादातर आंगनबाड़ी केंद्रों का है।
वर्जन -
स्कूल में ज्यादातर छात्र छात्रावास के हैं। छात्रावास से बच्चे घर चले गए हैं। इसलिए कक्षाएं नहीं चल पा रही हैं। बच्चों को बुलाया गया, लेकिन वह आ नहीं रहे हैं।
राजेंद्र उपाध्याय, प्राचार्य शास. बालक उमावि बैढऩ।
वर्जन-
मेरे संज्ञान में तो कक्षा 11 वीं का संचालन हो रहा है। आज कक्षाएं नहीं चली हैं तो इस बारे में प्राचार्य से बात की जाएगी। कक्षा नहीं चलना गंभीर मामला है।
आरपी पाण्डेय, डीइओ सिंगरौली।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.