CM Shivraj Chauhan ने विंध्य क्षेत्र को दी करोड़ों की सौगात

-CM Shivraj Chauhan ने कहा अब बहनों-बेटियों को हैंडपंप पर नहीं लगानी होगी लाइन
-चितरंगी में बनेगा मिनी स्टेडियम
-बड़े परिवार वाले गरीबों को आवास बनाने को सरकार देगी मदद
-मेधावी बच्चों को टेक्निकल एजुकेशन की फीस सरकार भरेगी
-जनपद पंचायत सीईओ को तत्काल प्रभाव से हटाने का ऐलान

By: Ajay Chaturvedi

Published: 04 Oct 2021, 05:41 PM IST

सिंगरौली. सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Chauhan) ने सोमवार को जिले के चितरंगी पहुंच कर सिंगरौली ही नहीं बल्कि बल्कि विंध्य क्षेत्र के निवासियों की पेयजल की बड़ी समस्या के समाधान की पहल की। इस दौरान उन्होंने 15 अरब 66 करोड़ से भी ज्यादा (1663.13 करोड़) लागत की जल प्रदाय योजनाओं की आधारशिला रखी।

सीएम शिवराज सिंह चौहान

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में जनहित के कार्यों में लापरवाही, गड़बड़ी या भ्रष्टाचार के लिए कोई स्थान नहीं है। बताया कि मेरे पास शिकायत आई है कि जनपद पंचायत में राशि जो किस्त की जाती है, उसके अलावा भी कुछ मांग की जा रही है। ऐसे में मैं जनपद पंचायत सीईओ को तत्काल प्रभाव से हटा रहा हूं।

सीएम शिवराज सिंह चौहान

इस मौके पर उन्होंने कहा परियोजना चालू होने के बाद बहनों और बेटियों को हैंडपंप और कुंओं से पानी नहीं लाना पड़ेगा। बल्कि घर में नल खोलते ही पानी आ जाएगा। अब हर घर में नल जल योजना के माध्यम से शुद्ध पेयजल पहुंचाया जाएगा। उन्होंने कहा कि रोटी, कपड़ा और मकान हर गरीब की जरूरत है। भाजपा सरकार गरीबों को सस्ता राशन उपलब्ध करा रही है। अब पेयजल भी सर्वसुलभ होगा।

सीएम ने कहा कि गरीबों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास उपलब्ध कराया जा रहा है। लेकिन ऐसे बहुतेरे गरीब परिवार हैं जिनका परिवार बड़ा हो गया है, सभी सदस्यों को एक घर में रहने लायक जगह ही नहीं रह गई है। ऐसे में अब इन परिवारों को पट्टा देकर भूखंड का मालिक बनाया जाएगा। इतना ही नहीं, प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को नि:शुल्क बालू उपलब्ध कराया जाएगा ताकि वो भी अपना मकान आसानी से बना सकें। बताया कि आवास प्लस योजना के तहत पुन: सर्वे करवाकर गरीबों को पक्का मकान बनाने के लिए धनराशि दी जाएगी।

सीएम शिवराज सिंह चौहान आदिवासियों संग नृत्य करते

मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीब परिवारों के मेधावी बच्चों का मेडिकल, इंजीनियरिंग, आईआईएम जैसे कॉलेजों में दाखिला होने पर उनकी फीस बच्चों के माता-पिता नहीं, बल्कि सरकार संबल योजना से भरवाएगी। उन्होंने चितरंगी में विधि-विधान से पूजन-अर्चन कर 'शासकीय जगन्नाथ सिंह स्मृति महाविद्यालय' का लोकार्पण भी किया।

मुख्यमंत्री ने क्षेत्र में खेल को बढ़ावा देने और क्षेत्रीय खिलाड़ियों की प्रतिभा निखारने के उद्देश्य से चितरंगी में मिनी स्टेडियम बनाने की घोषणा की। कहा कि मिनी स्टेडियम बनने के बाद यहां के बच्चे खेल-कूद में भी क्षेत्र का नाम रौशन कर सकेंगे।

इस मौके पर उन्होंने आदिवासी और जनजातियों को संबोधित करते हुए कहा कि जल, जमीन, जंगल सब अपने हैं। जंगल काटना नहीं है, बचाकर रखना है। कहा कि हमने तय किया है कि वनोपज को भी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदा जाएगा।

सीेएम ने दी सौगात

मुख्यमंत्री इस मौके पर सीएम चितरंगी के जनजातीय भाइयों के बीच उनके परंपरागत नृत्य में सम्मिलित हुए। फिर कहा कि इस परंपरागत नृत्य में शामिल हो कर नवीन ऊर्जा और अप्रतिम आनंद की अनुभूति हुई। कहा कि प्रकृति के सच्चे सेवक और रक्षकों से हम यह सीख सकते हैं कि अनेक चुनौतियों के बीच भी हम जीवन में कैसे उल्लास और उत्साह का रंग भर सकते हैं।

Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned