कलेक्टर सिंगरौली की इस कार्रवाई से मचा हड़कंप

-प्रिंसिपल्स सहित कई पर गिरी गाज

By: Ajay Chaturvedi

Published: 18 Feb 2021, 06:31 PM IST

सिंगरौली. कलेक्टर सिंगरौली के सख्त रवैये से जिले में हड़कंप मच गया है। खास तौर पर विद्यालयों के प्रिंसिपल्स के बीच। दरअसल कलेक्टर राजीव रंजन मीना ने जिला पंचायत सभागार मे स्कूल एवं सर्व शिक्षा अभियान की बैठक बुलाई थी। इसमें हाईस्कूल व हायर सेकेंड्री की परीक्षा की तैयारी के संबंध में विचार विमर्श किया जाना था, लेकिन इस बैठक को कई प्रिंसिपल ने तवज्जो ही नहीं दिया। साथ ही कुछ ऐसे रहे जिन्होंने सीएम हेल्पलाइन पर दर्ज शिकायतों को नजरंदाज किया। यह कलेक्टर को नागवार गुजरा।

कलेक्टर ने सीएम हेल्प लाईन मे लंबित प्रकरणो का निराकरण निर्धारित समय मे संतुष्टि पूर्वक करने का निर्देश दिया। ब्लाक शिक्षा अधिकारी देवसर के जवाब से असंतुष्ट कलेक्टर ने अनुशासनात्म कार्रवाई का निर्देश दिया। उन पर कार्य में लापरवाही का भी आरोप लगा था। साथ ही बैठक से गैरहाजिर प्रिंसिपल्स का एक दिन का वेतन काटने को जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया। वहीं ही सरई प्रिंसिपल का प्रभार दूसरे को सौंपने का निर्देश दिया।

कलेक्टर मीना ने पिछले वर्ष के हाई स्कूल व हायर सेकंड्री परीक्षा परिणाम की जानकारी लेने के साथ ही कहा कि अभी आगामी हाईस्कूल एवं हायर सेकंड्री परीक्षा में लगभग दो माह शेष है, ऐसे में हम सब को शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हाई स्कूल का परीक्षा परिणाम 80 प्रतिशत और हायर सेकेंड्री का परीक्षा परिणाम 90 प्रतिशत लाने का लक्ष्य निर्धारित कर तैयारियों को मूर्त रूप देना होगा। उन्होन कहा कि जिन विद्यालयो मे अंग्रेजी, गणित, विज्ञान के शिक्षको का आभाव हो वहां स्मार्ट क्लास संचालित कराए जायं। सभी संकुलो के अधिनस्थ विद्यालयों में कार्यरत शिक्षको की उपस्थिति सार्थक एप पर शत प्रतिशत दर्ज हो। इसी को आधार मानकर शिक्षको का वेतन भुगतान हो।

कलेक्टर ने उपस्थित प्राचार्यो को निर्देश दिए कि प्रत्येक संप्ताह विद्यालयों में टेस्ट लेकर टेस्ट परिणाम गुगल फार्म में प्रस्तुत करें ताकि जो कमियां हो उनमें सुधार किया जा सके। उन्होंने कहा कि जिन विद्यालयों में चहारदीवारी या अन्य आवश्यकता अनुसार कार्य करने की आवश्यकता हो उनके लिए मांग प्रस्तुत किया जाय।

बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी आरपी पांडेय, डीपीसी आर.के दुबे, रमसा प्रभारी पीएन सिंह सहित प्रिंसिपल, बीईओ, बीआरसी उपस्थि रहे।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned