अधूरी पढ़ाई के बीच छुट्टी, परीक्षा को लेकर संशय में छात्र

महाविद्यालय प्रशासन भी अभी कुछ बता पाने की स्थिति में नहीं....

By: Ajeet shukla

Published: 19 Mar 2020, 09:42 PM IST

सिंगरौली. वैसे तो महाविद्यालयों के प्राचार्य पाठ्यक्रम पूरा होने की बात कर रहे हैं, लेकिन छात्रों की माने तो अभी कुछ दिनों तक अतिरिक्त कक्षाएं चलती। क्योंकि महाविद्यालय बंद होने से पहले तक कई विषयों में पाठ्यक्रमों को पूरा नहीं किया जा सका है। नतीजा कोरोना के संक्रमण से बचाव के मद्देनजर आगामी आदेश तक महाविद्यालयों में छुट्टी होने के बाद छात्र पढ़ाई और परीक्षा को लेकर संशय की स्थिति में हैं।

दरअसल अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय ने 24 मार्च से वार्षिक परीक्षा शुरू करने की घोषणा की है। विश्वविद्यालय की ओर से बाकायदा समय-सारणी जारी कर दी गई है। इस स्थिति में छात्र इस बात को लेकर संशय की स्थिति में हैं कि परीक्षा होगी या नहीं। शासन स्तर से अगले आदेश तक महाविद्यालयों में छुट्टी किए जाने की घोषणा की गई है। शासकीय अग्रणी महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. एमयू खान से जब इस संबंध में बात की गई तो वह भी कुछ स्पष्ट नहीं बता सके।

प्राचार्य ने कहा कि विश्वविद्यालय की ओर से घोषित समय-सारणी के मुताबिक मार्च में दो दिन 24 और 28 मार्च को परीक्षा पड़ रही है। संभव है कि इन दो दिनों की परीक्षा टाल दी जाए, लेकिन इस संबंध में अभी विश्वविद्यालय की ओर से कोई निर्णय नहीं लिया गया है और न ही उन्हें अवगत कराया गया है। माना जा रहा है कि स्कू  लों की भांति महाविद्यालयों में भी अवकाश 31 मार्च तक रहेगा। इसके बाद स्थिति सामान्य रहती है तो अप्रेल में परीक्षाएं शुरू की जा सकती हैं।

महाविद्यालय प्रशासन ने छात्रों से परीक्षा की तैयारी जारी रखने को कहा है। यह बात और है कि पाठ्यक्रम पूरा हो चुका है का हवाला देते हुए अब कोई अतिरिक्त कक्षा नहीं लगाए जाने की बात की जा रही है। जबकि ज्यादातर विषयों का थोड़ा बहुत हिस्सा पढ़ाने को बाकी रह गया है, जिसे अतिरिक्त कक्षाओं के जरिए पूरा किया जाना था। फिलहाल अब छात्रों के पास स्वाध्याय ही एक मात्र विकल्प बचा है।

प्रवेश प्रक्रिया को लेकर भी संशय की स्थिति
परीक्षा की तरह ही स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्रक्रिया को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है। हालांकि 11 मई से शुरू होने वाली प्रवेश प्रक्रिया में अभी काफी वक्त है, लेकिन महाविद्यालयों में हुए अवकाश के मद्देनजर नहीं जान पड़ता है कि विश्वविद्यालय प्रशासन सही समय से परीक्षा कराते हुए परिणाम की घोषणा कर पाएगा। एेसे में प्रवेश प्रक्रिया का प्रभावित होना तय माना जा रहा है। फिलहाल महाविद्यालयों के प्राचार्य प्रवेश प्रक्रिया शुरू करने के लिए नई तिथि घोषित किए जाने की संभावना जता रहे हैं।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned