scriptCompanies responsible for accident to OB's mountain flyash dam | ओबी के पहाड़ व फ्लाईऐश डैम से हुआ हादसा तो कंपनियां होंगी जिम्मेदार | Patrika News

ओबी के पहाड़ व फ्लाईऐश डैम से हुआ हादसा तो कंपनियां होंगी जिम्मेदार

कलेक्टर ने बुलाई आपदा प्रबंधन समिति की बैठक, दी सुरक्षा व्यवस्था बनाने की हिदायत, पत्रिका ने उठाया है मुद्दा ....

सिंगरौली

Updated: June 07, 2022 11:59:44 pm

सिंगरौली. बरसात के दौरान ओबी यानी खदान की मिट्टी के खड़े पहाड़ों या फिर फ्लाईऐश डैम से कोई हादसा होता है तो इसके लिए पूरी तरह से कंपनियां जिम्मेदार होगी। इसके लिए उन पर सख्त से सख्त कार्रवाई भी की जाएगी। कलेक्टर ने कंपनी प्रतिनिधियों इस हिदायत के साथ बरसात शुरू होने से पहले सुरक्षा व्यवस्था बनाने का निर्देश दिया है।
Companies responsible for accident to OB's mountain  flyash dam
Companies responsible for accident to OB's mountain flyash dam
ओबी के पहाड़ों और फ्लाईऐश डैम से पूर्व में हुई घटनाओं के मद्देनजर कलेक्टर ने मंगलवार को आपदा प्रबंधन समिति की बैठक बुलाई। कलेक्ट्रेट सभागार में बुलाई गई बैठक में कलेक्टर ने एनसीएल, एनटीपीसी, सासन पावर, एस्सार पावर व हिंडालको सहित अन्य औद्योगिक कंपनियों के अधिकारियों से कहा कि मानसून आने के पूर्व वह सभी अपने क्षेत्रों में पानी की निकासी की उचित व्यवस्था बनाएं।
किसी भी स्थिति में लोगों के घरों में पानी व मलबा नहीं जाना चाहिए। कलेक्टर ने पूर्व की घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि पिछले वर्ष सासन कोल माइंस अमलोरी और एनसीएल के साथ एनटीपीसी के कुछ क्षेत्रों में भारी वर्षा के कारण पानी का भराव हो गया था। इससे लोगों को काफी परेशानी हुई थी और नुकसान उठाना पड़ा था। इस बार किसी भी स्थिति में ऐसा नहीं होना चाहिए।
कलेक्टर ने बैठक में प्रशासनिक अधिकारियों को भी निर्देशित किया कि वह प्रभावित क्षेत्रों का भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था का अवलोकन करें। कमी मिलने पर संबंधित कंपनी को सूचित कर व्यवस्था बनवाएं। बैठक में सीइओ जिला पंचायत साकेत मालवीय, अपर कलेक्टर डीपी बर्मन, संयुक्त कलेक्टर राजेश शुक्ला, एसडीएम माडा बीपी पाण्डेय, आयुक्त नगर निगम आरपी सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।
पत्रिका ने उठाया उदासीन रहने का मुद्दा
ओबी के पहाड़ हो या फिर फ्लाईऐश डैम की सुरक्षा व्यवस्था। मानसून सिर पर होने के बावजूद कंपनियां उदासीन हैं। कंपनियों की ओर से इस बार भी सुरक्षा के मद्देनजर कोई बंदोबस्त नहीं किया जा रहा है। पत्रिका की ओर से इस मुद्दे को अभियान के रूप में लिया गया है। पत्रिका की खबरों को संज्ञान में लेते हुए कलेक्टर ने पंचायत चुनाव की व्यस्तता के बावजूद आपदा प्रबंधन समिति की बैठक बुलाई। उम्मीद है कि कंपनियां कलेक्टर एवं समिति के निर्देश पर गंभीरता से अमल करेंगी।
इन बिंदुओं पर भी दिया निर्देश
- फ्लाईऐश डैम में नहीं होना चाहिए कहीं सिपेज।
- होमगार्ड विभाग भी रखें आपदा संबंधित तैयारी।
- पुल व पुलिया की भी की जाए साफ-सफाई।
- शहरी क्षेत्र में नाला व नालियों की सफाई कराएं।
- तत्काल कंट्रोल रूम का संचालन शुरू कराएं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर: एकनाथ शिंदे ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएमMaharashtra Politics: बीजेपी ने मौका मिलने के बावजूद एकनाथ शिंदे को क्यों बनाया सीएम? फडणवीस को सत्ता से दूर रखने की वजह कहीं ये तो नहीं!भारत के खिलाफ टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड को मिला नया कप्तान, दिग्गज को मिली बड़ी जिम्मेदारीAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शरद पवार ने किया बड़ा दावा- फडणवीस डिप्टी सीएम बनकर नहीं थे खुश, लेकिन RSS से होने के नाते आदेश मानाUdaipur Murder: आरोपियों को लेकर एनआईए ने किया बड़ा खुलासा, बढ़ी राजस्थान पुलिस की मुश्किल'इज ऑफ डूइंग बिजनेस' के मामले में 7 राज्यों ने किया बढ़िया प्रदर्शन, जानें किस राज्य ने हासिल किया पहला रैंक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.