खरीदी केंद्रों में किसानों का शोषण जारी, फिर आई शिकायत

अधिक उपज लेने के साथ नकद की भी हो रही वसूली ....

By: Ajeet shukla

Published: 29 Dec 2020, 11:13 PM IST

सिंगरौली. खरीदी केंद्रों में मनमानी रूकने का नाम नहीं ले रही है। एक ओर जहां अधिकारियों की ओर से किए गए निरीक्षण में मनमानी मिली है। वहीं अब दूसरी ओर से किसान भी शोषण के विरोध में आवाज उठाने लगे हैं। अब की बार शिकायत महुआगांव के किसानों की ओर से की गई है।

ग्राम पंचायत महुआगांव केंद्र में मनमानी तरीके से किसानों से अधिक उपज और नकद लिए जाने की शिकायत की गई है। बताया गया कि बारदाना और नमी के नाम पर किसानों से प्रति तौल में एक किलोग्राम अधिक धान लिया जा रहा है। साथ ही पल्लेदारों व धान भरवाने के नाम पर भी नकद की वसूली हो रही है।

महुआगांव के किसान सुरेश साहू ने इसके साथ खरीदी केंद्र में उनके साथ अभद्रता किए जाने की शिकायत की है। उन्होंने निवास पुलिस चौकी को केंद्र पर हुए अभद्रता की जानकारी दी है। साथ ही समिति प्रबंधक को वहां से हटाए जाने की मांग की है। उनका कहना है कि बोरी की, लोडिंग व अनलोडिंग के नाम पर नकद लिया जा रहा है। जब उन्होंने इसका विरोध किया तो उनके साथ अभद्रता की गई है। दूसरे किसानों के साथ भी ऐसा ही किया जा रहा है।

खरीदी करने में लग जाते हैं कई दिन
किसानों की ओर से यह शिकायत भी है कि मैसेज आने के बाद खरीदी करने में 8 से 10 दिन का वक्त लग रहा है। जबकि किसान मैसेज मिलने के दूसरे दिन ही केंद्र पर पहुंच जाते हैं। ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि किसान परेशान होकर केंद्र पर कार्यरत कर्मियों के मंसा के अनुरूप जल्दी-जल्दी उपज बेच कर चला जाए।

अभी खरीदी के लिए काफी वक्त
धान बिक्री के लिए अभी किसानों के पास काफी वक्त है। धान खरीदी के लिए 16 जनवरी तक का वक्त दिया गया है। इधर अधिकारियों के मुताबिक अब तक 6 लाख क्विंटल से अधिक धान की खरीदी की जा चुकी है। उम्मीद है कि इस बार 12 लाख क्विंटल से अधिक धान की खरीदी यहां जिले में होगी।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned