मुख्य सचिव ने दी चेतावनी: किसानों से उर्वरक नहीं मिलने की शिकायत अगर आई तो होगी सख्त कार्रवाई

मुख्य सचिव ने की उर्वरक वितरण व अनाज खरीदी की समीक्षा

By: Anil singh kushwah

Published: 20 Nov 2018, 07:14 PM IST

सिंगरौली. आगामी फसल रबी के मद्देनजर किसानों को खाद व बीज समय पर मिलना चाहिए। प्रदेश के मुख्य सचिव बसंत प्रताप सिंह ने जिले के संबंधित अधिकारियों को यह निर्देश देते हुए कहा कि उर्वरक की आपूर्ति व वितरण की हर समीक्षा करें और समय-समय पर उसकी रिपोर्ट शासन को भेजें।

तीन दिनों में मिलने वाली उर्वरकों का करें उल्लेख
एनआईसी केंद्र में आयोजित वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान मुख्य सचिव में धान खरीदी की स्थिति की भी समीक्षा की। उन्होंने उपस्थित स्थानीय अधिकारियों से कहा कि किसी भी स्थिति में उर्वरक की कमी नहीं होनी चाहिए। किसानों की मांग के मद्देनजर अग्रिम भंडारण किया जाए और जरूरत के वक्त उन्हें उपलब्ध कराया जाए। निर्देशित किया कि 30 नवंबर तक आवश्यकता के अनुसार यूरिया की मांग करें।

लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई
जिला सहकारी बैंक के महाप्रबंधक से कहा कि सभी समितियों में उर्वरक के उपलब्धता का बोर्ड लगाएं। आगामी तीन दिनों में समिति को प्राप्त होने वाली यूरिया व अन्य उर्वरकों की मात्रा का भी उल्लेख करें, जिससे किसानों को वास्तविक स्थिति की जानकारी रहे। रैक प्वाइंट पर प्राप्त उर्वरक का तत्काल परिवहन कर समितियों को पहुंचाया जाए। समीक्षा के दौरान उपसंचालक कृषि अशीष पाण्डेय, जिला आपूर्ति अधिकारी बलेंद्र शुक्ला सहित अन्य स्थानीय अधिकारी उपस्थित रहे।

केंद्रों पर की जाए सारी सुविधाएं
धान सहित अन्य अनाजों के समर्थन मूल्य पर खरीदी के संबंध में निर्देश दिया है कि केंद्रों पर तौल काटे व बारदाने सहित अन्य व्यवस्थाएं मुहैया कराएं। मंडियों में भी अनाज के खरीदी की व्यवस्था होनी चाहिए, साथ ही कहा कि खरीदी सहित अन्य जानकारी शासन को उपलब्ध कराया जाए।

दो दिन बंद रहेगी अनाज की खरीदारी
विधानसभा चुनाव में 28 नवंबर को मतदान के मद्देनजर अनाज की खरीदी का कार्य 27 व 29 नवंबर को स्थगित रहेगा, ताकि लोग वोट डालने जाएं। बाकी रह गए पंजीकृत किसानों की भी मैपिंग जल्द से जल्द करने का निर्देश दिया गया है। लापरवाही पर कार्रवाई की भी चेतावनी दी गई है।

Anil singh kushwah Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned