मुफ्त में रेत मिलने की आस में रोका आवास का निर्माण

मुख्यमंत्री की घोषणा का साइड इफेक्ट .....

By: Ajeet shukla

Published: 13 Oct 2021, 10:49 PM IST

सिंगरौली. प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत हर महीने 1500 से अधिक आवास तैयार कराने का लक्ष्य इस महीने पूरा नहीं होता दिख रहा है। मुख्यमंत्री द्वारा चितरंगी में 4 अक्टूबर को आयोजित सभा के दौरान की गई घोषणा इसकी मुख्य वजह बन रही है।

मुख्यमंत्री की घोषणा का साइड इफेक्ट यह है कि अब पंचायत विभाग के अधिकारियों को इस महीने 500 आवास तैयार कराना भी मुश्किल जान पड़ रहा है। जबकि पिछले महीने मिले लक्ष्य से अधिक 1700 आवास तैयार कराए गए थे।

मुख्यमंत्री ने सभा में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान बनाने वाले पात्र हितग्राहियों को मुफ्त में रेत देने की घोषणा की है। घोषणा के मद्देनजर हितग्राही अब रेत की मांग कर रहे हैं और मुफ्त में रेत मिलने की आस में आवास निर्माण का कार्य रोक दिया है। वर्तमान में बनी इस स्थिति से गांव के सरपंचों व सचिवों ने जनपद व जिला पंचायत के वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया है।

इधर, अधिकारी मुफ्त में रेत देने संबंधित कोई आदेश जारी नहीं होने के चलते हितग्राहियों को ऐसी कोई भी सुविधा देने से हाथ खड़े कर रहे हैं। गौरतलब है कि वर्तमान में एक ट्रैक्टर ट्राली की कीमत 4 से 5 हजार रुपए वसूल की जा रही है। मुख्यमंत्री की घोषणा के अमल में आने पर हितग्राहियों को इस खर्च से राहत मिलेगी।

जैसे-तैसे आई तेजी, अब फिर काम हुआ सुस्त
आवास योजना के तहत मकान बनाने के काम में काफी प्रयासों के बाद तेजी आई थी। जुलाई में जहां पूरे जिले में स्वीकृत 24506 आवासों में से केवल 58 आवास तैयार हो पाए थे। वहीं अधिकारियों के दबाव और कोशिश के बाद मैदानी अमले ने अगस्त और सितंबर में तैयार आवासों का आंकड़ा 2017 तक पहुंचा दिया है। अकेले सितंबर में 1700 आवास तैयार कराए गए हैं। लेकिन अब इस महीने में मैदानी अमले को 500 आवास तैयार कराने में भी पसीना छूट रहा है।

आवास के हितग्राहियों को मुफ्त में रेत देने की योजना को पायलट प्रोजेक्ट के रूप में लिया गया है। सिंगरौली में यह योजना सबसे पहले लागू होगी। इसके लिए शासन स्तर से कवायद तेजी के साथ चल रही है। उम्मीद है कि इस महीने के अंत तक आदेश जारी हो जाएगा।
राजीव रंजन मीना, कलेक्टर सिंगरौली।

हितग्राहियों को मिली किश्त
24000 को पहली किश्त
14564 को दूसरी किश्त
4570 को तीसरी किश्त
1613 को चौथी किश्त

जनपदवार तैयार आवास
बैढऩ - 434
चितरंगी - 1108
देवसर - 475

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned