एंबुलेंस में बिठाते समय भागा कोरोना संक्रमित वृद्ध, मचा हड़कंप

-कोरोना संक्रमित 75 वर्षीय वृद्ध को भेजा जा रहा था रीवा

By: Ajay Chaturvedi

Published: 28 Aug 2020, 05:05 PM IST

सिंगरौली. अव्वल तो कोरोना का नाम सुन कर ही लोगों के होश उड़ जा रहे हैं, जब किसी को कोरोना संक्रमित बता दिया जा रहा है तो उसमें से कुछ सदमें आ रहे हैं तो कई ऐसे भी हैं जो अस्पताल में रहना ही नहीं चाह रहे। अगर किसी को जिले से बाहर भेजने की नौबत आ रही है तो वो किसी भी तरह से जाने को तैयार नहीं हो रहे। ऐसा ही एक वाकया पुराने जिला अस्पताल में सामने आया जब के 75 वर्षीय वृद्ध कोरोना के इलाज के लिए रीवा जाने के नाम पर इतना डर गया कि वह स्वास्थ्य कर्मियों के चंगुल से उस वक्त भाग निकला जब वे उसे एंबुलेंस में बिठा रहे थे।

प्रकरण पुराने जिला अस्पताल का है जहां कोरोना संक्रमित मरीजों को भर्ती किया जा रहा है। गुरुवार की सुबह-सुबह एक वृद्ध के चलते अस्पताल में हंगामा मच गया। घटना के संबंध में बताया जाता है कि कचनी क्षेत्र निवासी 75 वर्षीय वृद्ध की तबियत खराब होने पर परिजन बुधवार की देर रात पुराने जिला अस्पताल लेकर गए थे। वहां वृद्ध का एक्स-रे हुआ। फिर सैंपल लेकर ट्रू-नॉट से जांच की गई। जांच में वह कोरोना पॉजिटिव निकला। उसे सांस लेने में भी काफी दिक्कत हो रही थी। ऐसे में उसे उसे आइसोलेशन के एक अलग कमरे में ठहरा दिया गया। बताया जा रहा है कि इस दौरान भी उसने कमरे का दरवाजा पीट-पीटकर उसे क्षतिग्रस्त कर दिया। वृद्ध की स्थिति बिगड़ती देख कर ही उसे रीवा के लिए रेफर कर दिया गया।

लेकिन वह रीवा जाने को तैयार ही नहीं था। उसे जब 108 एंबुलेंस में बैठाया जा रहा था, तभी वह मौका देखकर भाग निकला। उस वक्त मौके पर सिर्फ एंबुलेंस स्टाफ और कोरोना आइसोलेशन वार्ड में ड्यूटीरत कर्मचारी ही मौजूद थे। इसमें से कुछ लोग भागने वाले संक्रमित वृद्ध को पकडऩे दौड़ पड़े और घेर लिया। वृद्ध संक्रमित काफी देर आनाकानी करने के बाद अस्पताल के गेट के पास बैठ गया और फिर वहां से परिसर में ही संचालित बाल कल्याण समिति के दफ्तर की तरफ चला गया। इस बीच कर्मचारी उसका पीछा करते हुए, बार-बार उसे वापस आने को कह रहे थे। हालांकि किसी की हिम्मत नहीं हो रही थी कि उस संक्रमित वृद्ध के पास जाकर उसे पकड़े। इस सूरत में प्रशासन से भी मदद मांगी गई, लेकिन मदद पहुंचने में देरी हो रही थी और हालात बिगड़ते जा रहे थे।

घंटों चले इस घटनाक्रम को लेकर बताया जा रहा है कि वृद्ध संक्रमित रीवा जाने से इतना भयतभीत था कि वह अस्पताल परिसर के बाहर यातायात तिराहे की ओर भागने लगा। मौके पर मौजूद स्वास्थ्य कर्मियों व 108 एम्बुलेंस के स्टाफ ने हिम्मत करके उसे दबोच लिया। इसके बाद उसे एम्बुलेंस में बैठाकर रीवा ले जाया गया। इस दौरान वृद्ध संक्रमित बार-बार अपने नाती को बुलाने की मांग करता रहा। बताया यह भी जा रहा है कि रीवा ले जाते वक्त भी रास्ते में वृद्ध ऑक्सीजन मास्क का निकालकर फेंक दे रहा था।

Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned