खाली हो गए अस्पतालों के कोविड वार्ड, अब केवल होम आइसोलेशन में मरीज

शहर से लेकर गांव तक मिली बड़ी राहत ....

By: Ajeet shukla

Published: 09 Jun 2021, 11:35 PM IST

सिंगरौली. पिछले महीने मई में एक समय ऐसा था जब पॉजिटिविटी रेट के मामले में जिला प्रदेश के टॉप फाइव जिलों में शामिल था, लेकिन अब शहर से लेकर गांव तक कोरोना संक्रमण की स्थिति करीब-करीब खत्म हो गई है।

अस्पतालों में खाली कोविड वार्ड व पिछले दो दिन में एक भी संक्रमित मरीज का नहीं मिलना कुछ ऐसा ही बयां कर रहा है। स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक शहर से लेकर गांव तक कोरोना संक्रमण से बड़ी राहत मिली है। स्थिति यह है कि अस्पतालों के कोविड वार्ड लगभग पूरी तरह से खाली हो गए हैं। अब कोरोना मरीज केवल होम आइसोलेशन में हैं। वह भी केवल गिनती भर के।

स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक बीते सोमवार व मंगलवार को एक भी मरीज पॉजिटिव नहीं मिले हैं। जून महीने में इससे पहले पॉजिटिव मिले मरीजों की अधिकतम संख्या 4 रही है। एक, तीन व 5 जून को 4 की संख्या में पॉजिटिव मरीज मिले हैं, जबकि बाकी के अन्य दिनों में यह संख्या एक या फिर केवल २ रही है।

फिर भी बरतनी होगी सावधानी
स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि इन दिनों भले ही कोरोना मरीजों की संख्या में तेजी से कमी आई है। फिर भी सावधानी बरतनी होगी। क्योंकि पूर्व में लापरवाही के कारण ही मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ था और मरीजों को भर्ती करने के लिए अस्पताल में जगह नहीं रह गया था। अब स्थिति यह है कि जिला अस्पताल सहित कंपनियों के अस्पतालो में कोरोना वार्ड खाली हो गए हैं।

होम आइसोलेट पर निगरानी
एक तरफ अस्पताल में कोविड वार्ड खाली हो गए हैं। वहीं दूसरी ओर होम आइसोलेट पर प्रशासन की कड़ी नजर है। इससे निश्चित ही मरीजों की संख्या में कमी आई है। जिले भर में वर्तमान में केवल ३७ मरीज सक्रिय बताए जा रहे हैं। यह सभी होम आइसोलेशन में हैं। वार्ड खाली हो जाने से चिकित्सक व नर्सों की कसरत कम हो गई है। उन्हें अब यह महसूस हो रहा है।

संक्रमण की चेन बढ़ते नहीं लगेगी देर
इस स्थिति में भी कलेक्टर राजीव रंजन मीना सभी को कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रहने के लिए कोविड प्रोटोकाल का पालन करने को कह रहे हैं। मास्क नहीं लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग को नजर अंदाज करने की स्थिति में जुर्माना लगाने का निर्देश है। वजह अधिकारी यह मानते हैं कि कहीं से भी कोई कोरोना संक्रमित मरीज आ गया तो लापरवाही की स्थिति में उससे संक्रमण की चेन बढ़ते देर नहीं लगेगी।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned