हाइवा की टक्कर से साइकिल सवार युवक की दर्दनाक मौत

दुर्घटना के बाद फूटा लोगों में गुस्सा, सड़क किया जाम ....

By: Ajeet shukla

Published: 20 Sep 2021, 01:31 AM IST

सिंगरौली. मजदूरी करके घर वापस लौट रहे युवक की हाइवा की टक्कर से मौत हो गई। हादसे के बाद हाइवा चालक मौके से वाहन छोड़कर फरार हो गया। खुटार चौकी क्षेत्र के परसौना में रविवार की शाम हृदय विदारक हादसे में युवक की मौत के बाद गुस्साए ग्रामीण मार्ग पर जाम लगाकर दुर्घटना का विरोध करने लगे।

साथ ही शव को उठाने से मना कर दिया। हालांकि तब तक में भारी संख्या में पुलिस बल घटनास्थल पर पहुंचकर भीड़ को काबू करने मेें जुटी रही। लेकिन परिजन सहित ग्रामीण मानने को तैयार नहीं हुए। हाइवा क्रमांक एमपी 66 एच 2036 बघेल एंड कंपनी का बताया जा रहा है। पुलिस ने मामला दर्ज कर मामले की जांच में जुटी है।

चौकी प्रभारी खुटार ने बताया कि हर्दी गांव निवासी भोला प्रसाद केवट पिता भुलई केवट उम्र 40 वर्ष रविवार की शाम मजूदरी करके घर वापस लौट रहा था। तभी परसौना पहुंचते ही हाइवा चालक ने उसे जोरदार टक्कर मार दिया। जिससे युवक की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई।

घटना के बाद ग्रामीण आक्रोशित हो गए और परसौना-रजमिलान मार्ग पर जाम लगाकर विरोध प्रदर्शन करने लगे। हालांकि स्थिति को बेकाबू होते देखकर चौकी सहित कोतवाली थाने से भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर तैनात रहा। इसके साथ ही कोतवाल अरुण पाण्डेय घटनास्थल पर पहुंचकर लोगों को समझाइश देने में जुटे रहे।

घंटों जाम रहा परसौना-रजमिलान व बरगवां मार्ग
विभत्स घटना के बाद परसौना-रजमिलान व बरगवां मार्ग पर कई घंटे तक जाम लगा रहा। इस दौरान वाहन चालकोंं को आफत की दौर से गुजरना पड़ा है। सड़क के दोनों छोर पर वाहनों की लंबी कतार लगी रही। कोल वाहन भी सड़क पर दिखे।

जबकि मौके पर कोल वाहनों की लंबी लाइन लगी हुई थी। बताया गया है कि मार्ग को जाम से बहाल कराने के लिए पुलिस को मशक्कत करना पड़ा है। घंटों तक परेशनियों के बाद देर शाम तक पुलिस ने परसौना-रजमिलान मार्ग को जाम से बहाल कराया है। इसके बाद आवागमन शुरू हुआ।

मृतक के परिवार को 4 लाख की सहायता राशि
दुर्घटना मेें मृत युवक के परिजनों को 4 लाख रुपए की आर्थिक सहायता राशि देने के लिए आश्वस्त किया है। मौके पर एसडीएम सिंगरौली ऋषि पवार व सीएसपी देवेश कुमार पाठक सहित भारी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा।

परिजनों को समझाइश के बाद उन्हें चार लाख रुपए की आर्थिक सहायता राशि सहित अन्य मांगों को पूरा करने के बाद परिजन व ग्रामीण शांत हुए। इसके बाद शव का पंचनामा कर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। रोते बिलखते परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned