कोविड-19: सैंपलिंग में जानबूझ कर की गई लापरवाही, FIR

- कोरोना संक्रमण की जानकारी छिपाने सहित लगे कई गंभीर आरोप

By: Ajay Chaturvedi

Updated: 15 Jul 2020, 01:41 PM IST

सिंगरौली. कोरोना की सैंपलिंग और इलाज में इस तरह की घोर लापरवाही भी बरती जा रही है जिसका कोई ठिकाना नहीं। अब सिंगरौली के एक सरकारी डॉक्टर का कारनामा तो गजब का है। डॉक्टर ने घर में काम करने वाली दायी के नाम पर अपनी पत्नी का सैंपल भेज दिया जांच को। सैंपल जब पॉजिटिव निकला तो मेडिकल टीम उस महिला के घर पहुंची तो उसने सैंपलिंग से साफ इंकार कर दिया। घटना के खुलासे के बाद पुलिस ने संबंधित डॉक्टर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक वो सरकारी डॉक्टर पिछले महीने परिवार संग यूपी के बलिया में एक शादी में शामिल होने गया था। एक जुलाई को शादी से लौटने के बाद डॉक्टर ने स्वास्थ्य केंद्र खुटार में अपना काम जारी रखा। इस दौरान डॉक्टर की पत्नी की तबीयत अचानक बिगड़ने लगी और उसमें कोरोना वायरस के लक्षण नजर आने लगे। डॉक्टर ने बचने के लिए अपनी पत्नी के सैंपल लिए और अपने यहां काम करने वाली महिला के नाम से उसे जांच के लिए भेज दिया। लेकिन जांच रिपोर्ट जब पॉजिटिव आई और मेडिकल टीम के सदस्य उस महिला कर्मचारी के घर पहुंचे तो मामले का खुलासा हो गया।

इसके बाद जब डॉक्टर के परिवार से सभी के सैंपल लिए गए तो डॉक्टर सहित दो और पॉजिटिव निकले। पुलिस ने कोरोना संक्रमण की जानकारी छिपाने, शादी से लौटने के बाद क्वारंटीन न रहने, दूसरे के नाम पर कोरोना जांच कराने के अपराध में डॉक्टर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

कोट-

"खुटार स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ बीएमओ बिना अनुमति यात्रा पर गए थे। इसकी जानकारी छिपाकर ज्वाइनिंग दी। पत्नी के सैंपल में भी नाम छिपाया। यह कोरोना प्रोटोकाल और जिला दंडाधिकारी द्वारा जारी किए गए निर्देशों का उल्लंघन है। डॉक्टर के खिलाफ तहरीर दी गई है। कांटेक्ट हिस्ट्री तैयार कराकर स्क्रीनिंग कराई जा रही है।" डॉ. आरपी पटेल, सीएमएचओ सिंगरौली।

Corona virus
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned