रिलायंस के कोयला खदान में हादसा, जांच को बनारस से पहुंची टीम

-दुर्घटना के कारणों और उसके लिए जिम्मेदार व्यक्ति की तलाश शुरू

By: Ajay Chaturvedi

Published: 17 Nov 2020, 04:48 PM IST

सिंगरौली. रिलायंस के अमलोरी कोयला खदान में बड़ा हादसा हो गया जिसमें दो कर्मचारियों की मौत भी हो गई। इस हादसे की जांच के लिए खदान सुरक्षा निदेशालय (डीजीएमएस) वाराणसी जोन के डिप्टी डायरेक्टर की टीम मौके पर पहुंच गई है। इस टीम ने मौके पर पहुंचते ही अपनी पड़ताल भी शुरू कर दी है।

घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि रिलायंस कंपनी अधिक भार क्षमता वाले डम्परों का उपयोग होता है, जिनके चलने वाले हॉलरोड पर आमतौर पर छोटे वाहनों का प्रवेश निषेध रहता है। लेकिन बीते शनिवार की शाम हॉलपैक डम्पर के नीचे कैम्पर वाहन आ गया। एक बोलेरो कैम्पर वाहन में रिलायंस के 4 कर्मचारी सवार थे, जो खदान के उस हिस्से में थे, जहां पर भारी भरकम होलपैक चलते हैं। बोलेरो कैम्पर वाहन में रिलायंस के 4 कर्मचारी सवार थे। इसमें युवा कर्मचारी देवेंद्र व आदेश की मौत हो गई।

घटना के बाद जिला प्रशासन के अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर घटना का जायजा लिया, लेकिन इस हादसे के कारणों की सटीक जानकारी नहीं हो सकी। प्रबंधन के खदान सुरक्षा अधिकारी भी मामले से दूरी बनाये रहे और कंपनी की ओर से घटना के कारणों की जानकारी लेने कोई भी अधिकारी भी नहीं पहुंचा।

खदान में हुई दुर्घटना में देवेंद्र पांडेय और आदेश शाह की मौत के बाद पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। इस घटना की जांच संबंधित थाना नवानगर के प्रभारी यूपी सिंह को दी गई है। इसके लिए सिंह ने तेज तर्रार सब इंस्पेक्टर आरएन मिश्रा को इस मामले की तफ्तीश में लगाया है। बताया जा रहा है कि दुर्घटना करने वाले वाहन के मालिक और उसके चालक पर दोनों पर आरोप पंजीबद्ध करने के लिए विवेचना की जा रही है।

इस पूरे प्रकरण की जांच के लिए पहुंची डीजीएमएस वाराणसी जोन की टीम,रिलायंस के अधिकारियों, खदान की सुरक्षा में लगे अधिकारियों, वैधानिक पदों पर कार्य करने वाले अधिकारियों सहित घटना के समय मौजूद लोगों की जानकारी जुटाने में जुट गई है। बताया जा रहा है कि डीडीएमएस माइनिंग ने खदान हादसे में हुई दो मौतों के लिए प्रथमतया खदान प्रबंधन को सुरक्षा उपायों की जानकारी उपलब्ध कराने के साथ ही साथ घटना स्थल पर यथास्थिति बनाए रखने के निर्देश दिये हैं। बताया जा रहा है कि खदान के हैवी अर्थ मूविंग मशीनरी वाले क्षेत्र में चार पहिया कैम्पर का पहुंचना ही अपने आप में बड़ी लापरवाही साबित करता है। इस प्रकार से की जा रही माइनिंग पर डीजीएमएस ने सभी साक्ष्य एकत्र करने शुरू कर दिए हैं। टीम में शामिल माइनिंग व सेफ्टी से जुड़े तथ्यों को देखा जा रहा है और घटना स्थल का बारीकी से मुआयना किया जा रहा है। फिलहाल घटना स्थल पर किसी के भी आने जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

इस हादसे की बाबत थाना प्रभारी यूपी सिंह का कहना है कि सोमवार की देर शाम मृतकों का पोस्टमार्टम कराया गया। परिजन आहत हैं, जल्द ही परिजनों के कथन दर्ज किए जाएंगे। परिजनों के बयान व घटनास्थल पर मौजूद गवाहों के बयान सहित अन्य जिम्मेदारों से पूछताछ होगी। मौकाए वारदात पर उपलब्ध तथ्यों के आधार पर अपराध पंजीबद्ध किया जाएगा।

Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned