मिलिए भारत की लेडी खली से, इसका एक दांव ही कर देता है चित, रचा इतिहास

मिलिए भारत की लेडी खली से, इसका एक दांव ही कर देता है चित, रचा इतिहास

Rajiv Jain | Publish: Mar, 15 2018 07:30:06 AM (IST) | Updated: Mar, 15 2018 12:17:23 PM (IST) Singrauli, Madhya Pradesh, India

खली ने दी थी ट्रेनिंग, सिंगरौली की रहने वाली, पिता एनसीएल में, राजस्थान की सनी जाट को हराकर खिताब अपने नाम किया

 

सिंगरौली. कॉटिनेंटल रेसलिंग एंटरटेनमेंट जालंधर पंजाब की ओर से मार्च के प्रथम सप्ताह में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय महिला प्रो रेसलिंग चैंपियनशिप मैच का बेल्ट खिताब सिंगरौली की दिव्या आले ने जीता है। पूर्व चैंपियन राजस्थान की सनी जाट को हराकर अपने नाम किया। दिव्या इस चैंपियनशिप को जीतने वाली मध्यप्रदेश की पहली लडक़ी है। सिंगरौली की बेटी ने जिला सहित प्रदेश का नाम ऊंचा किया है। साथ ही उसकी इस उपलब्धि से उसके माता-पिता ने खुशी जाहिर की है। 9 मार्च को आयोजित फाइनल मैच में दिव्या आले ने विजेता का बेल्ट जीता। दिव्या आले एनसीएल की झिंगुरदह परियोजना में कार्यरत अशोक नेपाली की द्वितीय पुत्री है। दिव्या की स्कूली शिक्षा क्राइस्ट ज्योति स्कूल मोरवा सिंगरौली में हुई है। वहीं बीकॉम (स्नातक) की पढ़ाई रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय जबलपुर से की।

 

Dvya Aale with Dalip Singh Khali the great
IMAGE CREDIT: www.facebook.com/divya.aale.9

द ग्रेट खली दे रहे थे ट्रेनिंग
दिलीप सिंह जिन्हें द ग्रेट खली के नाम से जिसे पूरा संसार जानता है। वे खुद अपना अमूल्य समय निकालकर दिव्या को एकेडमी में रेसलिंग का प्र्रशिक्षण दे रहे थे। इससे दिव्या में निखार आया और कम समय में मध्यप्रदेश में पहली महिला रेसलर बनी।

कम समय में मिली सफलता
गत 14 जून 2017 से दिव्या पंजाब के जालंधर में द ग्रेट खली एकेडमी में रेसलिंग की ट्रेनिंग शुरू की। मतलब करीब आठ महीने की ट्रेनिंग में दिव्या ने कमाल कर दिखाते हुए जालंधर पंजाब में आयोजित महिला चैंपियनशिप में सिंगरौली की बेटी ने राजस्थान की सनी जाट को हराकर खिताब अपने नाम किया है।

Dvya Aale with Sunny Jaat
IMAGE CREDIT: Facebook/Patrika

जालंधर में है खली की एकेडमी
पंजाब के जालंधर के गांव कंगनीवाल ग्रेट खली की सीडब्ल्यूई (कांटीनेंटल रेसलिंग इंटरटेनमेंट) एकेडमी में फ्री स्टाइल कुश्ती में दुनिया भर में धाक जमाने वाले दिलीप सिंह राणा उर्फ खली ने डब्ल्यूडब्ल्यूई (वल्र्ड रेसलिंग एंटरटेनमेंट) से अलग होने के बाद एकेडमी खोली और अब यहां कई पहलवान तैयार भी कर लिए हैं। खली खुद पहलवानों को ट्रेंड कर रहे हैैं। प्रोफेशनल तरीके से खोली गई देश की पहली एकेडमी में खली के 40 युवा ट्रेनिंग ले रहे हैं। इनमें लड़कियां भी हैैं। पंजाब पुलिस से 2006 में नाता तोडऩे के बाद 2007 में विश्व चैैंपियन बने खली की एकेडमी में लड़कियों की टीम भी हो रही तैयार हो रही है। इनमें सिंगरौली की दिव्या भी है।

Dvya Aale CWE wrestler in regular dressup
IMAGE CREDIT: Facebook/Patrika
Ad Block is Banned