गजराज का तांडव: पहले ग्रामीण, अब बीट गार्ड को पैरों तले कुचला, मौके पर मौत

गजराज का तांडव: पहले ग्रामीण, अब बीट गार्ड को पैरों तले कुचला, मौके पर मौत
Elephant Terror in Singrauli

Amit Pandey | Updated: 12 Oct 2019, 01:59:31 PM (IST) Singrauli, Singrauli, Madhya Pradesh, India

दहशत में ग्रामीण.....

सिंगरौली. छत्तीसगढ़ की सीमा से सटे गांवों में गजराज ने ऐसा तांडव मचाया कि तीसरे दिन वन विभाग के बीट गार्ड को कुचलकर मार दिया। तीन दिन के भीतर हाथियों के कुचलने से मौत की यह दूसरी घटना है। इससे आसपास गांवों के लोग दहशत में हैं। गंभीर मसले को लेकर वन विभाग के अफसर कुछ ठोस नहीं कर पा रहे हैं। जिससे गजराज के तबाही की स्थिति बरकरार है। बताया है कि वन विभाग का बीट गार्ड गोभा में पदस्थ है। जिसकी मौत शुक्रवार को हाथियों के कुचलने से मौत हो गई।

जानकारी के मुताबिक चितरंगी ब्लाक के कोरसर निवासी रामदरश शर्मा वन विभाग के गोभा बीट में मुंशी के पद पर पदस्थ था। छत्तीसगढ़ से पहुंची हाथियों का झुंड को भगाने की कोशिश करने लगा। इस दौरान हाथियों ने बीट गार्ड को कुचलकर मौत के घाट उतार दिया। बतादें कि पिछले दिनों बुधवार को उर्ती गांव में हाथियों के कुचलने से रामकृपाल की मौत हो गई थी। इसके बाद हाथियों का झुंड चरगोड़ा की ओर चल दिया। करीब चार दिनों से छत्तीसगढ़ बार्डर से सटे आसपास के गांवों में गजराज ने हडक़ंप मचा दिया है। सूचना के बाद मौके पर कलेक्टर, एसपी, डीएफओ सहित मौके पर भारी संख्या में वन विभाग व पुलिसबल मौजूद है।

मकान व फसलों को पहुंचाया नुकसान
छत्तीसगढ़ बॉर्डर से बीते मंगलवार की देर रात हाथियों का झुंड उर्ती गांव में पहुंचा। जहां घर-मकान व फसलों को भारी नुकसान पहुंचाया। गोभा, उर्ती, चरगोड़ा सहित आसपास के गांवों में हाथियों का झुंड फसलों को पूरी तरह से चौपट कर दिया है। फिलहाल नुकसान का मुआवजा दिलाने किसानों का आश्वास्त किया गया है। इससे उनके नुकसान का सर्वे कराया जा रहा है।

300 मीटर दूर रहने का निर्देश
आसपास के ग्रामीण व वन विभाग कर्मियों को प्रशासनिक अमला ने हाथियों से तीन सौ मीटर दूर रहने का निर्देश दिया है। जिससे हमला करने का प्रयास भी करें तो लोग वहां से भागकर अपना बचाव कर सकें। बताया गया है कि बीट गार्ड हाथियों के झुंड के नजदीक पहुंच गया था। इससे हाथियों ने उसे अपनी चपेट में ले लिया और उसकी मौत हो गई।

कई दिनों से गजराज का डेरा
छत्तीसगढ़ बलंगी की ओर से बीते मंगलवार को हाथियों का झुंड जिले में प्रवेश किया। इसके बाद पुन: दूसरा झुंड भी बीते दिन गुरुवार को दस्तक दे दिया है। तकरीबन दर्जनभर से अधिक हाथियों का झुंड बार्डर के आसपास के गांवों में अपना डेरा जमा दिया है। उन्हें भगाने की कवायद विभाग की ओर से की जा रही है मगर झुंड को खदेडऩे में असफल हो रहे हैं। इससे खतरा बरकरार है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned