मानसून की सक्रियता से खिले किसानों के चेहरे

-नहीं होगी सिंचाई के लिए दिक्कत
-जलाशयों में भरेगा पानी तो जल संसाधन की नहीं होगी कमी

By: Ajay Chaturvedi

Published: 22 Jun 2020, 03:46 PM IST

सिंगरौली. पिछले कई सालों के बाद इस वर्ष मानसून एक तो समय पर आया और वर्षा भी लगातार हो रही है। मानसून के मौजूदा मूड को देखते हुए किसान खुश हैं। उन्हें लग रहा है कि अगर इसी तरह वर्षा काल में बरिश होती रही तो खरीफ की फसल तो अच्छी होगी ही जलाशयों के भरने से रबी की फसल में भी मदद मिलेगी।

बता दें कि जिले में पिछले दो साल से अच्छी बारिश न होने से किसानों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ा। वजह ये कि बारिश हुई नहीं तो जलाशय भी खाली रह गए। ऐसे में सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी ही नहीं मिल पाया। नहरों तक ने धोखा दे दिया। लेकिन इस साल 15 जून के आस-पास मानसून जो सक्रिय हुआ है उसके तहत निरंतर बारिश हो रही है तो उम्मीद की जा रही है कि इस बार जिले के सारे जलाशय भर जाएंगे। नहरों में भी पानी होगा तो कोई दिक्कत नहीं आएगी। सिंचाई भी हो जाएगी और अन्य कार्यों के लिए भी पर्याप्त पानी होगा। भू-जल स्तर भी ठीक बना रहा तो पेयजल का भी संकट नहीं झेलना पड़ेगा।

बता दें कि जिले में मानसून की वर्षा का औसत आंकड़ा 1232 मिलीमीटर माना गया है मगर बीते दो वर्ष में जिले के हिस्से में मानसून के दौरान इसके मुकाबले काफी कम वर्षा हुई। इस कारण जिले के छोटे-बड़े सभी 28 बांध लगभग आधे ही भर पाए, शेष बांध आधे खाली रह गए। मगर इस बार सीजन शुरु होने के साथ ही जिले पर मानसून की कृपा देखी जा रही है। पूरे जिले में मानसून का सीजन शुरु होने के साथ ही वर्षा का जो सिलसिला शुरू हुआ फिलहाल जारी है। मानसून की ऐसी बेहतर शुरुआत का नतीजा है कि अब तक जिले में 230 मिलीमीटर तक कुल वर्षा रिकार्ड की जा चुकी है। इसे किसान के लिए अच्छा संकेत माना जा रहा है।

जल संसाधन विभाग का आकलन है कि मानसून की यही सक्रियता बनी रहती है तो जिले के सभी जलाशयों में भरपूर जल संग्रह की स्थिति होगी। इससे जिले में खरीफ व रबी दोनों सीजन की फसलों की बेहतर सिंचाई की जा सकेगी तथा किसानों को किसी भी सीजन में फसलों की सिंचाई के लिए पानी की कमी नहीं रहेगी। इसका सर्वाधिक लाभ धान की फसल में मिलेगा।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned