अन्नïदाता परेशान, खरीफ के बाद रबी की फसल में भी पानी को तरसेंगे खेत

अन्नïदाता परेशान, खरीफ के बाद रबी की फसल में भी पानी को तरसेंगे खेत

Anil Kumar | Publish: Nov, 11 2018 12:10:38 AM (IST) | Updated: Nov, 11 2018 12:10:39 AM (IST) Singrauli, Singrauli, Madhya Pradesh, India

धौडऱ ग्राम के किसानों ने नहर दुरुस्त कराने कलेक्टर से लगाई गुहार
पुरवा बांध से निकली नहर है क्षतिग्रस्त, खेत तक नहीं पहुंचता पानी

सिंगरौली. खरीफ की पूरी फसल में सिंचाई के अभाव में खराब हो गई। यही हाल रहा तो रबी की फसल भी जिम्मेदार अधिकारियों के लापरवाही की भेंट चढ़ जाएगी। खरीफ की तरह रबी की फसल भी बिना सिंचाई बर्बाद न हो, इसके मद्देनजर धौडऱ व ओडग़ड़ी गांव के किसानों ने कलेक्टर से समस्या के समाधान की गुहार लगाई है।

किसानों ने कलेक्टर को लिखा पत्र
रबी में फसल की सिंचाई के लिए पानी की व्यवस्था हो सके, इसके लिए दोनों गांव के करीब दो दर्जन किसानों ने सामूहिक रूप से कलेक्टर को पत्र लिखा है। किसानों की ओर से कलेक्टर को लिखे गए पत्र में कहा गया है कि गांव धौडऱ में स्थित पुरवा बांध से धौडऱ के अलावा ओडग़ड़ी गांव तक के किसानों को सिंचाई के लिए पानी मिलता रहा है, लेकिन पानी की आपूर्ति करने वाली नहर के पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो जाने के चलते दोनों गांवों के किसानों को पानी नहीं मिल पा रहा है। पिछले दो वर्षों से हजारों एकड़ फसल की सिंचाई संभव नहीं हो पा रही है। नतीजा किसानों को खेती में भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

किसान दो साल से लगा रहे गुहार
धौडऱ गांव के भाइयालाल साहू व ओडग़ड़ी के अरविंद कुमार के मुताबिक नहर से सिंचाई के लिए पानी करीब दो साल से नहीं मिल रहा है। इसकी मुख्य वजह यही है कि नहर कई जगह टूटी हुई है। जब तक नहर को नए सिरे से दुरुस्त नहीं कराया जाता है, सिंचाई हो पाना मुश्किल है।इसके लिए कई बार अपील की गई, लेकिन नतीजा सिफर रहा है।

कलेक्ट्रेट पहुंचने को होंगे मजबूर
किसानों का कहना है कि रबी की बोवनी शुरू होने से पहले नहर को दुरुस्त नहीं कराया गया तो वह सब कलेक्ट्रेट पहुंचकर सामूहिक रूप से धरना-प्रदर्शन करने को बाध्य होंगे। किसानों का कहना है कि अब की बार वह रबी में किसी भी स्थिति में फसल का नुकसान सहने को तैयार नहीं हैं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned