scriptIrrigation of 67 thousand hectares incomplete on basis of projects | परियोजनाओं के दम पर 67 हजार हेक्टेयर में सिंचाई का सपना अधूरा | Patrika News

परियोजनाओं के दम पर 67 हजार हेक्टेयर में सिंचाई का सपना अधूरा

अधर में गोंड सिंचाई परियोजना का काम, स्वीकृति के बाद ठंडे बस्ते में रिहंद का प्रस्ताव ....

सिंगरौली

Published: September 22, 2022 11:56:40 pm

सिंगरौली. जिले में सिंचाई परियोजनाओं का हाल भी सीधी-सिंगरौली हाईवे सरीखे है। किसानों को 67 हजार हेक्टेयर में सिंचाई सुविधा मिलने की आस तो जगा दी गई, लेकिन परियोजनाओं को लेकर धरातल पर कोई काम होता नहीं दिख रहा है।
paddy.jpg
Irrigation of 67 thousand hectares incomplete on basis of projects
ऐसे में फसलों की सिंचाई जेटपंप, तालाब, सरोवर व चेकडैम के भरोसे रह गई है, जो किसानों के लिए काफी खर्चीला साबित हो रहा है। जिले में खेती को लाभ का धंधा बनाने का हवाला देते हुए दो सिंचाई परियोजनाएं मंजूर की गई है। एक गोंड सिंचाई परियोजना है, जिसे स्वीकृति मिले पांच वर्ष से अधिक समय व्यतीत हो चुका है, लेकिन काम केवल भूमि अधिग्रहण और ले-आउट डिजाइन बनाने तक सीमित है।
दूसरी परियोजना रिहंद माइक्रो सिंचाई परियोजना है, जिसे करीब 5 महीने पहले अप्रेल में स्वीकृति मिली, लेकिन इसके बाद से प्रस्ताव ठंडे बस्ते में है। माइक्रो सिंचाई परियोजना को लेकर अब तक कोई भी कार्य नहीं हो सका है। वस्तुस्थिति के मद्देनजर किसानों निराशा है। वहीं दूसरी ओर से शासन-प्रशासन के अधिकारी परियोजनाओं के कार्य में तेजी लाने को लेकर गौर फरमाने को तैयार नहीं है।
रिहंद से होगी 38 हजार हेक्टेयर में सिंचाई
सिंगरौली और माड़ा तहसील के 113 गांवों में करीब 38 हजार हेक्टेयर रकबा में सिंचाई की सुविधा देने के लिए रिहंद माइक्रो सिंचाई परियोजना की स्वीकृति अप्रेल 2022 में दी गई है। इस परियोजना के लिए 672 करोड़ रुपए के बजट की स्वीकृति मिली है। इस परियोजना को लेकर सारी कवायद केवल इतना तक ही सीमित है। रिहंद जलाशय के किनारे खटखरिया गांव में माइक्रो सिंचाई परियोजना को तैयार किया जाएगा। इससे हिर्रवाह, सिंगरौलिया, पचौर, सासन, गड़हरा, करौटी, चरगोड़ा, पिपराकुरंद, बरहपान, मकरोहर, सेमरिया, मलगो, माड़ा, अमिलवान, जरहा, चाचर सहित अन्य कई दूसरे ग्राम पंचायतों को सिंचाई के लिए पानी दिया जाना है।
गोंड से सीधी को भी मिलेगा सिंचाई का पानी
वर्ष 2017 में स्वीकृत गोंड सिंचाई परियोजना का धरातल पर काम लगभग शून्य है। यह बात और है कि परियोजना का काम लेने वाले ठेका कंपनी को करोड़ों रुपए का भुगतान कर दिया गया है। अधिकारी कार्य में लेटलतीफी की वजह स्थान में परिवर्तन बता रहे हैं।
दलील है कि नए स्थान चमारीडोल में भूमि-अधिग्रहण की कवायद पूरी करने के बाद ले-आउट व डिजाइन पर काम चल रहा है। गोंड परियोजना से जिले की 29 हजार हेक्टेयर बंजर भूमि को सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराई जानी है। इसके अलावा सीधी जिले की कुसुमी तहसील के कई गांवों को भी सिंचाई के लिए पानी दिया जाना है। इस परियोजना के लिए पूर्व में लागत 10 करोड़ रुपए बताई गई है।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

अंकिता हत्याकांड : एक्शन में उत्तराखंड सरकार, ऋषिकेश में पुलकित आर्य के रिजॉर्ट पर चला बुलडोजर, CM बोले - दी जाएगी कड़ी सजाराजस्थान में नए मुख्यमंत्री के बनने से ठीक पहले इस विधायक के दो बेटे लाखों रुपए लेते पकडे गए... जयपुर में देर रात एक्शनUNGA में पाकिस्तान को भारत का करारा जवाब: संवाद और आतंकवाद साथ-साथ नहीं चल सकतेMaharashtra: शिवसेना ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे पर फिर बोला जोरदार हमला, दिल्ली दौरे को लेकर कही ये बड़ी बातEknath Khadse: बड़ी खबर! एकनाथ खडसे क्या फिर थामेंगे बीजेपी का दामन? अमित शाह से फोन पर हुई चर्चा; खुद बताई सच्चाईहिमाचल: PM मोदी आज मंडी में 'महागर्जना रैली' को करेंगे संबोधित, फूकेंगे चुनावी बिगुलPFI ने जुलाई में रची थी प्रधानमंत्री मोदी पर हमले की साजिश, निशाने पर थी पटना की रैली, ED का बड़ा खुलासाWeather Update: जमकर बरस रहा है लौटता हुआ मानसून, दिल्ली-यूपी में आज येलो अलर्ट, पूर्वांचल में बाढ़ की आशंका
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.