एसडीओ के आदेश पर भी नहीं छोड़ रहा था डंपर, वनरक्षक 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार

लोकायुक्त की टीम ने की कार्रवाई ....

By: Ajeet shukla

Published: 08 Oct 2021, 11:18 PM IST

सिंगरौली. एसडीओ फारेस्ट के डंपर छोडऩे के आदेश के बाद भी रिश्वत के लिए अड़े वन रक्षक को लोकायुक्त की रीवा इकाई ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। वह 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा गया था। आरोपी वनरक्षक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

लोकायुक्त रीवा एसपी राजेंद्र कुमार वर्मा ने बताया कि उत्तरप्रदेश के सोनभद्र जिले के घोरावल निवासी प्रदीप पाण्डेय ने वन चौकी बीछी के बीट गार्ड सुप्रीत श्रीवास्तव के द्वारा रिश्वत की मांग किए जाने की शिकायत की थी। पुष्टि होने पर बुधवार को टे्रप की कार्रवाई करते हुए वनरक्षक श्रीवास्तव को उस समय गिरफ्तार कर लिया गया जब वह शिकायतकर्ता प्रदीप पाण्डेय से डंपर छोडऩे के एवज में 10 हजार रुपए ले रहा था। नोट भी जब्त कर लिए गए हैं।

यह है मामला
शिकायतकर्ता प्रदीप पाण्डेय का डंपर सोन घडिय़ाल क्षेत्र से रेत के अवैध परिवहन के आरोप में जब्त किया गया था। जिसे नौडिहवा पुलिस चौकी में खड़ा करा दिया था। बाद में एसडीओ फारेस्ट ने जब्त डंपर को राजसात की कार्रवाई से मुक्त कर दिया था। इस आदेश को लेकर प्रदीप ने वनरक्षक सुप्रीत से मिला तो उसने डंपर छोडऩे के बदले 10 हजार रुपए की मांग की।

सुबह से चल रही थी घेराबंदी
बताया गया है कि लोकायुक्त विशेष पुलिस स्थापना के निरीक्षक डीएस मरावी के नेतृत्व में टीम सुबह ही पहुंच गई थी और घेराबंदी शुरु कर दी थी। नौडिहवा पुलिस चौकी के समीप प्रदीप से रुपए लेते ही उसे वनरक्षक सुप्रीत को गिरफ्तार कर लिया।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned