2 मालगाड़ी आमने-सामने टकराईं, हादसे के बाद 6 घंटे तक फंसा रहा 3 लोको पायलटों का शव

हादसे के बाद लोको पायलट अंदर ही फंस गए थे।

By: Pawan Tiwari

Updated: 01 Mar 2020, 03:25 PM IST

सिंगरौली. मध्यप्रदेश के सिंगरौली में एनटीपीसी की 2 कोयला मालगाड़ियों के बीच भिंड़ंत हो गई। इस हादसे में 3 लोको पायलटों की मौत हो गई। टक्कर इतनी जोरदार थी कि दोनों मालगाड़ियों के इंजन क्षतिग्रस्त हो गए। वहीं, टक्कर के बाद कई वैगन पटरी से उतर गए। हादसे के बाद लोको पायलट अंदर ही फंस गए थे। छह घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद लोको पायलटों के शव को बाहर निकाला गया। इस हादसे में करोड़ों रुपए के नुकशान की बात भी कही जा रही है।


जानकारी के अनुसार, कोयला खाली कराने के बाद 2 क्रेन वैगन को हटा रही हैं। इस रेलवे ट्रैक का इस्तेमाल कोयला लाने-ले जाने वाली मालगाड़ियों के लिए ही होता है। इसमें बड़ी लापरवाही भी सामने आ रही है कि एक ही ट्रैक पर 2 मालगाड़ियों को कैसे जाने दिया गया? रेलवे सूत्रों ने बताया कि उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में स्थित राष्ट्रीय ताप विद्युत निगम (एनटीपीसी) के रिंहद में कोयला खाली कर मालगाड़ी लौट रही थी। दूसरी मालगाड़ी सिंगरौली के अमरोली एमजीआर क्षेत्र से कोयला लेकर रिंहद क्षेत्र जा रही थी। तभी सिंगरौली के बैढ़न इलाके के पास गनियारी में दोनों मालगाड़ी तड़के 4 बजे टकरा गईं। सुबह 10 बजे दोनों मालगाड़ियों के इंजन में फंसे शवों को निकाला गया। इनमें दोनों इंजन के चालक और एक सहायक बताया गया है। सिंगरौली जिले के वैढ़न थाना क्षेत्र के गनियारी बीजपुर रोड में कचरा प्लांट के पास रविवार की सुबह कोयला परिवहन ( एनटीपीसी ) करने वाली दो ट्रेनों के बीच भीषण टक्कर हो गई।

शिवराज ने प्रकट किया शोक
मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने हादसे में खेद प्रकट किया है। शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा- सिंगरौली में दो मालगाड़ियों के आमने - सामने की टक्कर का दुखद समाचार मिला। ईश्वर से दिवंगत आत्माओं की शांति और परिजनों को यह गहन दुःख सहन करने एवं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं।

Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned