प्रदेश के 5 मेडिकल कॉलेजों में ऑक्सीजन प्लांट के लिए एनसीएल ने दिए 10 करोड़ रुपए

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को सीएमडी ने सौंपा चेक ....

By: Ajeet shukla

Published: 11 Jun 2021, 11:19 PM IST

सिंगरौली. प्रदेश के 5 मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन प्लांट बनाने के लिए एनसीएल ने 10 करोड़ रुपए की राशि प्रदेश सरकार को दी है। शुक्रवार को एनसीएल के सीएमडी प्रभात कुमार सिन्हा ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की और 10 करोड़ की सहायता राशि का चेक सौंपा। इस दौरान कंपनी के निदेशक कार्मिक बिमलेंदु कुमार भी उपस्थित रहे।

कोविड-19 की आपदा में मरीजों के इलाज में ऑक्सीजन की आपूर्ति आसानी से सुलभ हो सके। इसके लिए कंपनी ने निगमित सामाजिक दायित्व (सीएसआर) के तहत प्रदेश सरकार के लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग को 10 करोड़ की धनराशि प्रदान दी है। एनसीएल द्वारा दी गई इस सहयोग राशि से भोपाल, इंदौर, रीवा, जबलपुर और सागर में संचालित मेडिकल कॉलेजों में 1500 एलपीएम क्षमता के पांच पीएसए ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जाएंगे।

सीएमडी ने सीएसआर मद से कोविड-19 के पीडि़त मरीजों के उपचार व बचाव के लिए एम्स भोपाल में भी एक ऑक्सीजन जेनरेटिंग प्लांट की स्थापना के लिए 1.75 करोड़ की सहायता राशि अलग से दी है। मुख्यमंत्री से मुलाकात के दौरान सीएमडी एनसीएल की कोयला परियोजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

इस अवसर दौरान एनसीएल द्वारा किए गए अन्य कार्यों की जानकारी भी दी गई। सीएमडी ने मुख्यमंत्री से सिंगरौली में माइनिंग व मेडिकल कॉलेज खोलने व निर्माणाधीन हवाई अड्डे को शीघ्र पूरा कराने का भी आग्रह किया। साथ ही आश्वस्त किया कि कंपनी की ओर से इसमें भी यथासंभव आर्थिक सहयोग किया जाएगा।

इससे पहले दी है 20 करोड़ की सहायता राशि
कोविड-19 महामारी से लडऩे के लिए एनसीएल ने पूर्व में भी प्रदेश सरकार को 20 करोड़ का अंशदान दिया है। इस वर्ष भी एनसीएल ने सिंगरौली जिला प्रशासन को कोविड के खिलाफ लडऩे एवं मेडिकल व्यवस्था का विस्तार करने के लिए 7 करोड़ से अधिक की सहायता की है। कंपनी ने कर्मियों सहित नेहरू अस्पताल में भी 600 एलपीएम क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट स्थापित कर रही है।

COVID-19
Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned