अवैध खनन व परिवहन के मामले में बड़ी कार्रवाई, 158 पर एफआईआर

हाई कोर्ट के निर्देश पर हरकत में आया खनिज महकमा, अवैध खनन व परिवहन के मामले में 158 रेत कारोबारियों पर मामला दर्ज। अब तक केवल जुर्माना वसूलने तक सीमित रही है खनिज विभाग की कार्रवाई।

By: Hitendra Sharma

Published: 28 Nov 2020, 01:00 PM IST

सिंगरौली. रेत के अवैध खनन व परिवहन के मामले में जिले के 158 रेत कारोबारियों के खिलाफ विभिन्न थानों में एफआईआर की गई है। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक सभी के खिलाफ चोरी का प्रकरण दर्ज किया गया है। सबसे अधिक प्रकरण कोतवाली यानी बैढ़न थाने में दर्ज कराई गई है।

158 कारोबारियों के खिलाफ FIR
खनिज विभाग के अधिकारियों के आवेदन पर पुलिस ने यह कार्रवाई की है। खनिज महकमा इंदौर उच्च न्यायालय की खंडपीठ के आदेश के मद्देनजर जिले के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा जारी निर्देश के बाद हरकत में आया है। खनिज अधिकारी एके राय के मुताबिक जिले के ऐसे 158 कारोबारियों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई गई है, जिनको इस वर्ष जनवरी से जून के बीच रेत जैसे अन्य खनिज का अवैध तरीके से खनन व परिवहन करते पकड़ा गया था।

पहले केवल जुर्माना वसूला
पूर्व में इन सभी केवल जुर्माना की कार्रवाई की गई थी, लेकिन अब सभी के खिलाफ खनिज चोरी के मामले में विभिन्न थानों में प्रकरण दर्ज किया गया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सोनकर के मुताबिक सबसे अधिक प्रकरण बैढऩ थाना क्षेत्र में और सबसे कम प्रकरण चितरंगी व गढ़वा थाने में दर्ज किया गया है।

राजस्व और पुलिस टीम की कार्रवाई
खनिज के अवैध खनन व परिवहन के मामले में जिन कारोबारियों पर कार्रवाई की गई है, उनमें ज्यादातर को राजस्व व पुलिस विभाग की टीम ने पकड़ा है। कई ऐसे कारोबारी भी हैं, जिनको खुद खनिज विभाग ने पकड़ा था। राजस्व व पुलिस विभाग ने कारोबारियों को पकडऩे के बाद प्रकरण खनिज विभाग को सौंप दिया था। खनिज विभाग की ओर से केवल जुर्माना की कार्रवाई की गई थी। अब न्यायालय के निर्देश पर चोरी का प्रकरण बनाते हुए एफआइआर दर्ज किया गया है।

थानों में दर्ज प्रकरणों की संख्या

1 बैढ़न थाना 58
2 माड़ा थाना 25
3 जियावन थाना 22
4 सरई थाना 21
5 मोरवा थाना 09
6 बरगवां थाना 07
7 नवानगर थाना 06
8 विंध्यनगर थाना 04
9 चितरंगी थाना 03
10 गढ़वा थाना 03
Show More
Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned