लापता किशोरी का शव मिला बारिश के पानी से लबालब गड्ढे में

-परिवारजनों का हत्या का आरोप

By: Ajay Chaturvedi

Published: 25 Aug 2020, 04:09 PM IST

सिंगरौली. गोभा क्षेत्र की 15 साल की किशोरी जो गाय चराने जंगल गई थी मगर लौटी नहीं, उसका शव एक पानी से लबालब भरे गड्ढे में मिलने के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। परिजनों को इसका पता चला तो उन्होंने गम और गुस्से का इजहार करते हुए इसे दुर्घटना मानने से इंकार किया। उनका आरोप है कि बेटी की हत्या कर लाश गड्ढे में फेंक दी गई।

जानकारी के अनुसार गोभा क्षेत्र निवासी किशोरी दिलकुमारी यादव का शव आमडीह जंगल में एक करीब चार फीट गहरे गड्ढे में मिला। गड्ढा पानी से लबालब है। बताया जा रहा है कि दिलकुमारी पिता किशुन यादव (15 वर्ष) शनिवार को जंगल में गाय चराने गई थी। इस दौरान उसकी गाएं खो गई थी। वह जंगल से कुछ गाय ढूंढ़ कर लाई थी। दोबारा गायों को खोजने जंगल में गई थी। इसके बाद वह घर नहीं लौटी। हालांकि परिजनों ने उसकी भरपूर तलाश की, लेकिन उसका कोई पता नहीं चला। इस पर उन्होंने रविवार को पुलिस में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। इसी बीच शाम को ग्रामीणों ने आमडीह स्थित जंगल के पानी से भरे गड्ढे में शव उतराता हुआ देखा। ग्रामीणों ने इसकी सूचना तत्काल गांव के अन्य सदस्यों को दी। शव मिलने की जानकारी होते ही दिलकुमारी के परिजन सहित ग्रामीण घटना स्थल की तरफ भागे। परिजनों ने गड्ढे में मिले शव की शिनाख्त दिलकुमारी के रूप में की। इसके साथ ही यह सूचना गोभा पुलिस चौकी को दी थी। लेकिन रात हो जाने के कारण शव को गड्ढे से नहीं निकाला जा सका। ग्रामीण रात भर शव की सुरक्षा में बैठे रहे। सोमवार की सुबह घटना स्थल पर पहुंचे पुलिस कर्मियों ने ग्रामीणों के सहयोग से शव को गड्ढे से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

परिजन ही नहीं ग्रामीण भी दिलकुमारी की हत्या की आशंका जता रहे हैं। ग्रामीणों की मानें तो जिस गड्ढे से किशोरी का शव बरामद किया गया है उसकी गहराई मात्र साढ़े तीन फीट है जबकि किशोरी की लंबाई साढ़े 4 फीट थी। बताया जाता है कि किशोरी के शरीर पर चोट के निशान भी पाए गए हैं, जिसको देखते हुए किशोरी के परिजनों ने उसकी हत्या किए जाने की आशंका जताते हुए जांच करने की मांग की है। उधर पुलिस ने मामला पंजीबद्ध कर पीएम रिपोर्ट आने का इंतजार कर रही है।

प्रथम दृष्टया देखने से यही प्रतीत हो रहा है कि लड़की की डूबने से मौत हुई है। पीएम रिपोर्ट आने का इंतजार किया जा रहा है। -अरूण पांडेय, टीआई वैढऩ

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned