संभाग मुख्यालय से आई मोबाइल प्रयोगशाला, मिलावटी खाद्य पदार्थों की मौके पर शुरू हुई जांच

खाद्य सुरक्षा विभाग के अभियान में मिल रही है मदद ....

By: Ajeet shukla

Published: 09 Dec 2020, 10:07 PM IST

सिंगरौली. मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत जिले में मिलावटी खाद्य पदार्थों की जांच तेज कर दी गई है। संभाग मुख्यालय से आई मोबाइल प्रयोगशाला खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकारियों की जांच में मदद कर रही है। विभाग के अधिकारियों ने अभियान तेज कर दिया है। जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी ओपी साहू के मुताबिक मोबाइल प्रयोगशाला यहां एक सप्ताह तक जांच कार्य के लिए उपलब्ध रहेगी।

खाद्य सुरक्षा विभाग की ओर से चलाए गए अभियान के तहत बुधवार को मोबाइल प्रयोगशाला के जरिए रिलायंस चौराहा, बिलौजी, महापौर बंगला चौराहा, बस स्टैंड सहित अन्य कई स्थानों पर संचालित दुकानों से खाद्य पदार्थों का सेंपल लेकर मौके पर ही जांच की गई। प्रयोगशाला में उपलब्ध लैब टेक्नीशियन ने मौके पर ही जांच कर रिपोर्ट सौंपी। विभाग के अधिकारी अब जांच रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई करेंगे। सेंपलिंग के दौरान प्रशासनिक अधिकारी भी साथ में मौजूद रहे।

प्रयोगशाला से 104 पदार्थों की हो सकेगी जांच
ओपी साहू के मुताबिक मोबाइल प्रयोगशाला में उपलब्ध सुविधाओं के मद्देनजर दूध व दूध से बने उत्पाद, मसाले, खाद्य तेल, नमक, शक्कर, शहद, नमकीन व मिठाई सहित कुल 104 तरह के खाद्य पदार्थों की महज कुछ मिनटों में जांच की सकती है। प्रयोगशाला से एक सप्ताह तक अभियान चलाकर दुकानों से सेंपलिंग कर जांच की जाएगी।

आमजन भी शुल्क देकर करा सकते हैं जांच
अधिकारियों के मुताबिक प्रयोगशाला के जरिए आमजन भी निर्धारित महज 10 रुपए शुल्क देकर खाद्य पदार्थों की जांच करा सकते हैं। इसके लिए उपभोक्ताओं को खाद्य सुरक्षा अधिकारियों से संपर्क करना होगा। खाद्य सामग्री की रिपोर्ट महज कुछ मिनटों में ही मिल जाएगी।

शहर से लेकर गांव तक चलेगा अभियान
संभाग के प्राप्त कार्यक्रम के मुताबिक मोबाइल प्रयोगशाला से मिलावटी खाद्य पदार्थ की जांच शहरी क्षेत्र के अलावा ग्रामीण क्षेत्र में स्थित बाजार की दुकानों में भी किया जाएगा। अधिकारियों की ओर से जांच व छापामार कार्रवाई पूरी तरह से गोपनीय रखी जाएगी। ताकि मिलावट पर लगाम लग सके।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned